भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व रघुवर दास के प्रभाव में रहा, उनके खिलाफ मुहिम जारी रहेगी : सरयू राय

भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व रघुवर दास के प्रभाव में रहा, उनके खिलाफ मुहिम जारी रहेगी : सरयू राय



भाजपा के बागी नेता और मुख्यमंत्री रघुवर दास के खिलाफ चुनाव लड़ने वाले पूर्व मंत्री सरयू राय का कहना है कि जिस तरह पूरे पांच साल राज्य में भाजपा की सरकार चली उससे लगा ही नहीं कि झारखंड पूर्ण राज्य है। मुख्यमंत्री ने केंद्र के एजेंट के रूप में काम किया। चुनाव प्रचार के दौरान संथाल परगना मुख्यालय दुमका में अमर उजाला के लिए विनोद अग्निहोत्री से सरयू राय की बातचीत।


 

आप इतने लंबे समय से भाजपा से जुड़े रहे फिर बागी क्यों हो गए
मैं 1962 से आरएसएस की अपने गांव की शाखा में मुख्य शिक्षक था। चार साल तक रहा फिर जिला प्रचारक हो गया। 1975 में आपातकाल लग गया। जेल भी गया। लंबे समय तक संघ से जुड़ा रहा। संघ ने ही मुझे 1977 में राजनीति में भेजा। फिर करीब 12-13 साल राजनीति से अलग रहा। जेपी विचार मंच बनाकर किसानों के बीच काम किया। बाद में जब 1992 में बाबरी मस्जिद का विध्वंस हुआ उसके
बाद आडवाणी जी के कहने पर भाजपा मे आया। पार्टी ने मुझे अनेक जिम्मेदारियां दीं। प्रवक्ता, पदाधिकारी, एमएलसी, विधायक मंत्री तक बनाया। पार्टी से मैंने कभी कुछ मांगा नहीं और पार्टी ने मुझे बहुत कुछ दिया। मैं संतुष्ट था।

अगर संतुष्ट थे तो टिकट कटने पर पार्टी छोड़कर मुख्यमंत्री के खिलाफ चुनाव क्यों लड़े
अगर शुरू में ही कह दिया जाता कि मुझे टिकट नहीं दिया जाएगा तो मैं शांति से घर बैठ जाता। लेकिन यह नहीं हुआ। मुझे कहा गया आपको चुनाव लड़ना है। संसदीय बोर्ड की पहली बैठक में होल्ड फिर दूसरी में होल्ड फिर तीसरी में होल्ड और जब चौथी बैठक में भी होल्ड कर दिया तब मुझे लगा कि ये लोग जानबूझकर मुझे अपमानित कर रहे हैं और इनकी चाल है कि एकदम आखिर में मेरा टिकट काट दिया जाए ताकि मैं कुछ भी करने के लायक न रहूं। तब मैने अपना अलग रास्ता चुना और घोषणा की कि मैं भाजपा के टिकट पर चुनाव नहीं लडूंगा। मुख्यमंत्री के खिलाफ चुनाव लडूंगा जिन्होंने ये सारा कुचक्र लड़ा है।


Popular posts
नदी नहाने गए लड़के की डुबने से हुई मौत-
Image
बकरी चराने गए व्यक्ति के ऊपर भालू ने किया अटैक दूसरे दिन मिला मृतक का डेड बॉडी क्षेत्रीय वासी भालू से परेशान
Image
मुहम्मदपुर फेटी कि घटना का अभी तक नहीं हुआ खुलासा,खुली आंख वाले प्रशासन ने वादी को अन्धा दिखाकर निर्दोष पत्रकार को भेजा गया जेल प्रशासन ने मौके की विवेचना करना जरूरी नहीं समझा
Image
उत्तर प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी स्वामित्व योजना के तहत आज ग्रामीणों को घरौनियों का किया गया वितरण
Image
कंपनी प्रबंधन व प्रशासन की तानाशाही ,महिलाओं ने संभाला मोर्चा,मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल के साथ एसडीएम व तहसीलदार
Image