भारत के पास उन्नत तकनीक न होने से अमेरिका खुफिया एजेंसी की इस करतूत का नहीं चला पता

भारत के पास उन्नत तकनीक न होने से अमेरिका खुफिया एजेंसी की इस करतूत का नहीं चला पता




खास बातें



  • अब भारतीय वैज्ञानिकों ने सीआईए के डाटा को डीकोड कर जुटाई अहम जानकारियां

  • दुनिया में गहरा रहे जलसंकट के मद्देनजर सीआईए ने ली थी कई नदियों की तस्वीरें



 

अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए ने गंगा के अलावा दुनिया की कई बड़ी नदियों की वर्ष 1958 से 1962 के बीच कई जानकारियां जुटाई थी।
 

चार वर्ष में कोरोना जासूसी सेटेलाइट की मदद से अमेरिका ने गंगा की 8000 से अधिक तस्वीरें उतारी थी। यह तस्वीरें संभावित जलसंकट को लेकर किए जाने वाले अध्ययन के मद्देनजर ली गई थी। लेकिन, भारत को अमेरिकी खुफि या एजेंसी की इस करतूत की भनक तक नहीं लगी।

भारतीय राष्ट्रीय कार्टोग्राफी संघ (आईएनसीए) की ओर से आयोजित अंतरराष्ट्रीय कांग्रेस में वैज्ञानिकों ने बताया कि भारतीय वैज्ञानिकों को इसकी जानकारी तब लगी जब सीआईए ने गंगा से जुड़ा डाटा आमजनों के लिए विभिन्न वेबसाइटों पर उपलब्ध कराया।

 


Popular posts
बकरी चराने गए व्यक्ति के ऊपर भालू ने किया अटैक दूसरे दिन मिला मृतक का डेड बॉडी क्षेत्रीय वासी भालू से परेशान
Image
ब्रेकिंग न्यूज़- नवावगंज फर्रूखाबाद जाने कब सुधरेगी नवावगंज थाना पुलिस की रवैया कब मिलेगा गरीबो को न्याय
Image
उत्तर प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी स्वामित्व योजना के तहत आज ग्रामीणों को घरौनियों का किया गया वितरण
Image
श्री नवरतन कुमार दुबे जी को भारतीय नौजवान इंकलाब पार्टी के राष्ट्रीय संगठन सचिव एवं राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी के पद पर दिलाया गया सदस्यता
Image
सिंगरौली जिले में 4 दिनों से जारी है सिंगरौली पुलिस की वार्षिक शस्त्र फायरिंग,अब तक 250 जवानों की करायी गयी फायरिंग
Image