भारत के पास उन्नत तकनीक न होने से अमेरिका खुफिया एजेंसी की इस करतूत का नहीं चला पता

भारत के पास उन्नत तकनीक न होने से अमेरिका खुफिया एजेंसी की इस करतूत का नहीं चला पता




खास बातें



  • अब भारतीय वैज्ञानिकों ने सीआईए के डाटा को डीकोड कर जुटाई अहम जानकारियां

  • दुनिया में गहरा रहे जलसंकट के मद्देनजर सीआईए ने ली थी कई नदियों की तस्वीरें



 

अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए ने गंगा के अलावा दुनिया की कई बड़ी नदियों की वर्ष 1958 से 1962 के बीच कई जानकारियां जुटाई थी।
 

चार वर्ष में कोरोना जासूसी सेटेलाइट की मदद से अमेरिका ने गंगा की 8000 से अधिक तस्वीरें उतारी थी। यह तस्वीरें संभावित जलसंकट को लेकर किए जाने वाले अध्ययन के मद्देनजर ली गई थी। लेकिन, भारत को अमेरिकी खुफि या एजेंसी की इस करतूत की भनक तक नहीं लगी।

भारतीय राष्ट्रीय कार्टोग्राफी संघ (आईएनसीए) की ओर से आयोजित अंतरराष्ट्रीय कांग्रेस में वैज्ञानिकों ने बताया कि भारतीय वैज्ञानिकों को इसकी जानकारी तब लगी जब सीआईए ने गंगा से जुड़ा डाटा आमजनों के लिए विभिन्न वेबसाइटों पर उपलब्ध कराया।

 


Popular posts
माड़ा पुलिस ने अवैध रेत परिवहन करते तीन ट्रैक्टरों को किया जप्त। 
Image
वेस्ट की जेलों में चल रहे खुलेआम मोबाइल- शासन प्रशासन मौन 
Image
जौनपुर। क्षेत्राधिकारी विजय सिंह के नेतृत्व में नगर में हुआ पुलिस का फ्लैगमार्च
Image
जौनपुर। युवक के ब्लाइंड मर्डर की किया खुलासा, पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार कर भेजा जेल
Image
सिंगरौली युवा कांग्रेस देवसर विधानसभा ने संजय पाण्डेय के नेतृत्व मे बढ़ती हुई महंगाई के खिलाफ किया राजासरई पेट्रोल पंप पर प्रदर्शन
Image