बिजनौर में जज के सामने हत्या: चौकी प्रभारी सहित 18 पुलिसकर्मी निलंबित, आरोपियों को भेजा जेल

बिजनौर में जज के सामने हत्या: चौकी प्रभारी सहित 18 पुलिसकर्मी निलंबित, आरोपियों को भेजा जेल




बिजनौर में जज परिसर में सीजेएम कोर्ट में हिस्ट्रीशीटर शाहनवाज की गोलियों से भूनकर हत्या करने के मामले में पुलिस की लापरवाही उजागर हुई है। एसपी बिजनौर ने जजी पुलिस चौकी सहित 18 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है पीएसी के जवान और दिल्ली पुलिस के कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए उच्चाधिकारियों को पत्र भेजा गया है। बुधवार को शाहनवाज के शव का पोस्टमार्टम कराया गया जिसमें शाहनवाज को 11 गोली लगने की पुष्टि हुई। उधर, हत्याकांड को अंजाम देने वाले तीनों आरोपियों को पुलिस ने न्यायालय में पेश करके जेल भेज दिया है। 
मंगलवार को नजीबाबाद के हाजी अहसान और शादाब हत्याकांड में आरोपी हिस्ट्रीशीटर शाहनवाज निवासी कनकपुर (नजीबाबाद) और जब्बार निवासी जलालाबाद (बिजनौर) को दिल्ली की तिहाड़ जेल से पेशी पर बिजनौर लाया गया था।
सीजेएम कोर्ट में पेशी के दौरान हाजी अहसान के बेटे साहिल निवासी बिजनौर, अकराज निवासी मोहल्ला राघड़ान किरतपुर और सुमित निवासी लिलौन (शामली) ने गोलियां बरसाकर शाहनवाज की हत्या कर दी थी, जबकि शाहनवाज का साथी जब्बार फरार हो गया था।


एसपी संजीव त्यागी ने बताया कि दिल्ली पुलिस की कस्टडी में शाहनवाज व जब्बार को पेशी पर लाया गया था। डेढ़ सेक्शन पीएसी की सुरक्षा के लिहाज से जजी परिसर में तैनात रहती है। मंगलवार को बरती गई लापरवाही के चलते जजी परिसर में स्थित पुलिस चौकी को सस्पेंड कर दिया है। पुलिस चौकी पर दरोगा सहित 12 पुलिसकर्मी तैनात थे।

दरोगा जयपाल सिंह, महिला आरक्षी पुलकित, रिंकू, शिल्पा, सोनिया, विपिन, रूबी, पुलिसकर्मी सचिन, कुलदीप कुमार, सोनू कुमार, निशांत कुमार, राजीव कुमार, अनूप कुमार, शरद पवार, वसीम अकरम, अंकुर यादव, सतेंद्र शर्मा, दीपक कुमार को सस्पेंड किया है। बाकी की जजी परिसर में ड्यूटी लगी थी, उन्हें भी निलंबित किया गया है। इसके अलावा शाहनवाज व जब्बार को पेशी पर लाने वाले दिल्ली पुलिस के कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए दिल्ली पुलिस के अफसरों को और जजी में तैनात रहने वाले पीएसी के जवानों के खिलाफ कार्रवाई के लिए 24 बटालियन मुरादाबाद पीएसी के कमांडेंट को भी पत्र लिखा है। 

साहिल और अकराज ने खुद को बताया नाबालिग 
हिस्ट्रीशीटर शाहनवाज की हत्या को अंजाम देने वाले तीनों आरोपियों को मेडिकल कराने के बाद सिटी कोतवाली पुलिस ने बुधवार को सीजेएम योगेश कुमार की कोर्ट में पेश किया। बरामद तीनों पिस्टल भी कोर्ट में पेश किए गए। इसके बाद न्यायिक हिरासत में आरोपियों को जेल भेज दिया गया। आरोपी साहिल और अकराज ने खुद को नाबालिग बताया, जबकि पुलिस उन्हें नाबालिग मानने को तैयार नहीं हुई। पुलिस ने दोनों को बालिग मानते चालान किया। एसपी संजीव त्यागी के मुताबिक तीनों नाबालिग हैं या बालिग इसकी अलग से जांच होगी।


वारदात को अंजाम देने वाले साहिल, अकराज और सुमित को पुलिस ने मौके से गिरफ्तार कर लिया था। तीनों ने पिस्टल से गोलियां बरसाई थीं। मौके से पुलिस ने तीन पिस्टल, 15 खोके, सात कारतूस और एक अतिरिक्त खाली मैगजीन बरामद की।


Popular posts
माड़ा पुलिस ने अवैध रेत परिवहन करते तीन ट्रैक्टरों को किया जप्त। 
Image
बीजेपी में शामिल हुए पूर्व टीएमसी सांसद दिनेश त्रिवेदी,घुटन का आरोप लगा राज्यसभा से दिया था इस्तीफा
Image
वेस्ट की जेलों में चल रहे खुलेआम मोबाइल- शासन प्रशासन मौन 
Image
बड़ी ख़बर सीधी में बड़ा हादसा 38 लोगों की मृत्यु बस गिरी नहर में तकरीबन 55 यात्री बस मे सवार
Image
सिंगरौली युवा कांग्रेस देवसर विधानसभा ने संजय पाण्डेय के नेतृत्व मे बढ़ती हुई महंगाई के खिलाफ किया राजासरई पेट्रोल पंप पर प्रदर्शन
Image