गोरखपुर में न होती हिंसा, अगर ये 5 सबूत नजरअंदाज न करती पुलिस, एकलौती गलती ले डूबी

गोरखपुर में न होती हिंसा, अगर ये 5 सबूत नजरअंदाज न करती पुलिस, एकलौती गलती ले डूबी




नागरिकता संशोधन कानून को लेकर गोरखपुर में आज हुए हिंसक प्रदर्शन को रोका जा सकता है, अगर गोरखपुर पुलिस ने पहले से संजीदगी दिखाई होती। सर्तकता के नाम पर थानों पर बैठक की गई पर प्रशासनिक व पुलिस अफसर मौके को भाप नहीं पाए।

शहर में गश्त कर मौका मुआयना भी जैसे बंद आंखों से ही किया गया। प्रबुद्ध लोगों पर विश्वास करना भी पुलिस को भारी पड़ा। ऐसा अचानक नहीं हुआ, इस प्रदर्शन की तैयारी पहले से की गई थी। आगे की स्लाइड में देखिए पुलिस से कहां हुई चूक और पुलिस की किस गलती का परिणाम थी गोरखपुर में हिंसा...


.


Popular posts
सिंगरौली जिले के वर्षगांठ के उपलक्ष्य में द सिंगरौली फाइल्स हुआ रिलीज़
Image
एसएचओ शक्तिनगर पर अवैध वसूली के लगे गंभीर आरोप,जांचकर्ता अधिकारी नियुक्त हुए क्षेत्राधिकारी प्रदीप सिंह चंदेल
Image
अब तक कि पहली बघेली फीचर फ़िल्म प्रीत के बंधन 13 मई को मोहन चित्र मंदिर MCM बैढ़न में
Image
नदी नहाने गए लड़के की डुबने से हुई मौत-
Image
SINGER SHILPI RAJ MMS: का प्राइवेट वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है, जिसमें वो एक लड़के के साथ आपत्तिजनक हालत में दिखाई दे रही है
Image