जिले में लगातार फर्जी स्कुलो की भरमार सरकार की कोई नजर नही  स्कुलो के पास कक्षाओं को संचालित करने के लिए कोई मान्यता भी नहीं 

जिले में लगातार फर्जी स्कुलो की भरमार सरकार की कोई नजर नही  स्कुलो के पास कक्षाओं को संचालित करने के लिए कोई मान्यता भी नहीं 


 संवाददाता आशीष कुमार दुबे 




मध्य प्रदेश सिंगरौली जिले में शिक्षा विभाग और निजी विद्यालयों के संचालकों के बीच तालमेल गड़बड हो जाने के बाद अवैध विद्यालयों का कच्चा चिट्ठा खुलने लगा है। कुछ ग्रामीण क्षेत्रों में रघुवीर शिक्षा भारती पुर मध्य विद्यालय शिवपुर खुर्द में फर्जी विद्यालयों के संचालित होने की बात सामने आ चुकी है।  शिक्षा विभाग की भाषा में अमान्य कहे जाने वाले इन विद्यालयों के पास कक्षाओं को संचालित करने के लिए मान्यता ही नहीं है



अपको बता दें कि शिक्षा विभाग के अधिकारियों के जिले व ग्रामीण एरिया में जिले में बगैर मान्यता के  करीब कुछ  विद्यालयों में कक्षा दस से लेकर बारह तक की पढ़ाई हो रही है। बेसिक शिक्षा विभाग के सूत्रों के मुताबिक, इनमे से किसी के पास कक्षा पांच तो किसी के पास कक्षा आठ तक की कक्षाओं को संचालित करने के लिए अनुमति है। 
कुछ विद्यालयों के पास प्राईमरी तक की कक्षाओं को संचालित करने की भी मान्यता नहीं है। यही नहीं ये विद्यालय मान्यता की शर्तों को भी पूरा नहीं करते हैं। इन फर्जी विद्यालयों के पास मानकों के अनुरूप न तो अध्यापक हैं न ही क्लास रूम। 
इसके बावजूद बेसिक शिक्षा के अधिकारियों, बाबूओं के आशीर्वाद से फर्जी विद्यालय आराम से संचालित होते रहे हैं


Popular posts
ब्रेकिंग न्यूज़ - एस वी एस उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के संस्थापक श्री वीरेंद्र सिंह यादव का हुआ निधन पूरा परिवार एवं ग्रामीण वासी शोकाकुल
Image
ब्रेकिंग न्यूज़ -रानी पाल को प्रधान देखने के लिए लोगों ने भगवान से की मनोकामनाएं
Image
सरई थाना अंतर्गत ग्राम खनुआ नवा टोला में एक अनोखी पहल देखने को मिली
Image
सिंगरौली जिले के सरई थाना अंतर्गत ग्राम जट्टाटोला में मानवता को किया शर्मशार रात जंगल में ही हॉस्पिटल कर्मचारियों एवं एंबुलेंस ड्राइवर की लापरवाहीयों से बच्चा पैदा हुआ रोड पर
Image
दिल्ली, यूपी में एक हफ्ते के लिए बढ़ा लॉकडाउन, इऩ राज्यों में कल से संपूर्ण लॉकडाउन, जानें- क्या-क्या बंद रहेगा
Image