Mahatma Gandhi Death Anniversary: ..जब मौत के कुहासे ने शाम में ही पूरे देश को स्याह कर दिया

Mahatma Gandhi Death Anniversary: ..जब मौत के कुहासे ने शाम में ही पूरे देश को स्याह कर दिया


30 जनवरी 1948 का दिन कहने को तो साल के बाकी दिनों जैसा ही था, लेकिन शाम होते होते यह इतिहास में सबसे दुखद दिनों में शुमार हो गया। दरअसल 30 जनवरी 1948 की शाम को नाथूराम गोडसे ने महात्मा गांधी की जान ले ली।


विडम्बना देखिए कि अहिंसा को अपना सबसे बड़ा हथियार बनाकर अंग्रेजों को देश से बाहर का रास्ता दिखाने वाले महात्मा गांधी खुद हिंसा का शिकार हुए। वह उस दिन भी रोज की तरह शाम की प्रार्थना के लिए जा रहे थे।

उसी समय गोडसे ने उन्हें बहुत करीब से गोली मारी और साबरमती का संत ‘हे राम’ कहकर दुनिया से विदा हो गया। अपने जीवनकाल में अपने विचारों और सिद्धांतों के कारण चर्चित रहे मोहन दास करमचंद गांधी का नाम उनकी मृत्यु के बाद दुनियाभर में कहीं ज्यादा इज्जत और सम्मान से लिया जाता है।


Popular posts
एस्सार विस्थापितों ने रोका कोल परिवहन, पहुंचा प्रशासनिक अमला, हुआ समझौता। 20 अगस्त को बैठक पुलिस चौकी बन्धौरा में, स्थानीय लोगों के रोजगार पर होगी चर्चा।
Image
गृहमंत्री एवं मुख्यमंत्री ने माँ विन्ध्यवासिनी कॉरिडोर शिलान्यास एवं रोप-वे का किया लोकार्पण,44 योजनाओ मे उत्तर प्रदेश देश में प्रथम स्थान पाकर बना उत्तम प्रदेश,पर्यटन के नये क्षितिज पर विन्ध्य क्षेत्र -गृहमंत्री अमित शाह
Image
जसविंदर उर्फ मोंटी के जन्मदिन पर उनकी माता चरणजीत कौर ने बैंगा बस्ती वार्ड क्रमांक 13 में जाकर गरीब परिवारों को बांटा मास्क सैनिटाइजर बिस्किट व मिठाई
Image
सिंगरौली सड़क दुर्घटना, मौके पर पहुंचे कलेक्टर पीड़ित परिवार वालों से मिले बरगवां में कार और ऑटो में हुई जोरदार टक्कर,चालक वृद्ध महिला सहित चार की दर्दनाक मौत,1 यात्री की हालत गंभीर
Image
पत्नी के साथ अश्लील बातें कर रहे लोगों को पति ने किया मना तो मनचलों व दबंगों ने पति व परिवार को पीट पीट कर कर दिया लहूलुहान
Image