दिल्ली हिंसा: शाहरुख के खिलाफ हत्या की कोशिश का केस दर्ज, अभी तक हथियार बरामद नहीं

दिल्ली हिंसा: शाहरुख के खिलाफ हत्या की कोशिश का केस दर्ज, अभी तक हथियार बरामद नहीं


 


दिल्ली हिंसा के दौरान पुलिस पर बंदूक तानने वाले मोहम्मद शाहरुख को मंंगलवार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। खबर है कि शाहरुख को मंगलवार दोपहर दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच टीम ने उत्तर प्रदेश के शामली जिले से गिरफ्तार किया गया है शाहरुख को दिल्ली मुख्यालय, आईटीओ में लाया गया है। दिल्ली लाने के बाद पुलिस ने मामले की जानकारी दी।


। अजीत कुमार सिंगला, अतिरिक्त पुलिस आयुक्त ने जानकारी दी है कि हम उस पिस्तौल को बरामद करने की कोशिश कर रहे हैं जो शाहरुख ने इस्तेमाल की थी। शाहरुख ने कहा कि उन्होंने गुस्से के बीच विरोध प्रदर्शन के दौरान गोलीबारी की। उनकी कोई आपराधिक पृष्ठभूमि नहीं है, लेकिन उनके पिता के पास उनके खिलाफ नशीले पदार्थों और नकली मुद्रा का मामला है। मामले में जांच जारी है।

अजीत कुमार सिंगला ने जानकारी दी कि शाहरुख पर आईपीसी की धारा 307 (हत्या का प्रयास), 186 और 353 के तहत मामला दर्ज किया गया है। जरूरत पड़ने पर जांच के दौरान और धाराएं जोड़ी जाएंगी। हम उसका अधिकतम संभव रिमांड हासिल करने की कोशिश करेंगे।

जानकारी के अनुसार जिस पिस्तौल से फायरिंग हुई वह मुंगेर में बनी थी जो सेमी ऑटोमेटेड थी। शाहरुख ने हिंसा में फायरिंग करने के बाद कनॉट प्लेस की पार्किंग में रात बिताई थी, फिर दिल्ली से पंजाब के जालंधर, इसके बाद बरेली और अंत में शामली पहुंचा। बताया जा रहा है कि शामली में शाहरुख के एक दोस्त ने छुपने में मदद की थी।



एसपी शामली को भी टीवी चैनल के माध्यम से मिली जानकारी


शाहरुख की गिरफ्तारी के बारे में स्थानीय पुलिस को भी किसी तरह की खबर नहीं थी। एसपी शामली विनीत जयसवाल का कहना है कि उन्हें भी टीवी चैनलों के माध्यम से यह जानकारी मिली, लेकिन जनपद से शाहरुख की गिरफ्तारी के संबंधित कोई भी जानकारी दिल्ली क्राइम ब्रांच ने उन्हें नहीं दी है।

एसपी शामली के अनुसार उन्हें यह भी जानकारी मिल रही थी कि शाहरुख की बरेली में गिरफ्तारी हुई है। उन्होंने एसएसपी बरेली से भी बात की, लेकिन वहां भी इस बारे में कोई जानकारी नहीं थी।

यह है मामला

शाहरुख के खिलाफ दिल्ली के जाफराबाद इलाके में भड़की हिंसा के दौरान 24 फरवरी को पुलिस के सामने आठ राउंड फायरिंग का आरोप है। मालूम हो कि जाफराबाद में सीएए विरोधी पत्थरबाजों को दौड़ाने के दौरान कर्दमपुरी मेन रोड निवासी शाहरुख ने पुलिसकर्मी के सीने पर पिस्टल तान दी थी।

सिपाही ने उसे दबोचने का प्रयास किया तो शाहरुख ने दूसरे पक्ष पर कई गोलियां चला दी थी। सिपाही उससे भिड़ गया, लेकिन इसी बीच उसके साथी भी पीछे से पथराव करते हुए वहां पहुंच गए। जब तक पुलिस पकड़ती, वे शाहरुख को बचाकर ले गए।

इसके बाद पुलिस ने उसके घर पर दबिश दी थी, लेकिन तबतक वह फरार हो चुका था। शाहरुख अशरफिया मस्जिद में बिरयानी बेचता है। फरारी के बीच शनिवार को उत्तर प्रदेश के अमरोहा जिले से भी उसे देखे जाने की खबर आई थी।



 

शादी समारोह में आया था नजर
स्थानीय लोगों ने दावा किया था कि दिल्ली हिंसा के आरोपी ताहिर हुसान के भाई नजर हुसैन और शाहरुख को शनिवार को एक शादी समारोह में देखा गया था। ग्रामीणों के मुताबिक दोनों शादी में दस पंद्रह मिनट के लिए आए थे। हालांकि पुलिस ने ऐसी जानकारी से इनकार किया था।

ग्रामीणों में चर्चा है कि शनिवार दोपहर गांव में एक शादी समारोह में ताहिर का भाई नजर हुसैन और शाहरुख आए थे। दोनों पल्सर बाइक से पहुंचे थे। करीब दस से पंद्रह मिनट रुकने के बाद दोनों वहां से निकल गए थे। 



 



Popular posts
प्रेमी ने पहले रेप किया,फिर मंदिर में शादी,बस 1 घंटे की दुल्हन बनकर रह गई लड़की,आगरा के सिकंदरा चौराहा स्थित होटल में एक लड़की से रेप का मामला सामने आया है
Image
लड़के पक्ष ने नही दी रिश्ते को मंजूरी तो सरई थाना ऊर्जा महिला डेस्क ने लड़की का दिया साथ,थाने में कराईं प्रेमी जोड़ियों का शादी की मंजूरी
Image
सिंगरौली में घर से बाहर जंगल में 14 वर्षीय युवती ने लगाई फांसी,क्षेत्र में मचा हड़कंप
Image
सिंगरौली जिले के नदी के तेज बहाव में 4 लोग बहे 2 की मौत रेस्क्यू जारी है
Image
मध्य प्रदेश में कोरोना की संभावित तीसरी लहर के लिए पढ़िए सीएम शिवराज का मास्टर प्लान
Image