अपराधियों के मददगार हैं कारखास सिपाही चर्चा है कि पुलिस नही, पटहेरवा थाने को चला रहे दलाल व कारखास सिपाही 

अपराधियों के मददगार हैं कारखास सिपाही चर्चा है कि पुलिस नही, पटहेरवा थाने को चला रहे दलाल व कारखास सिपाही 


संवाददाता -जयप्रकाश गौतम कुशीनगर



चर्चा में है कि पटहेरवा में दलाल, कारखास व अपराधियों की युगलबंदी से आमजन का हो रहा शोषण पुलिस का हनक- लोगो को सताने लगा है फर्जी मामलो में फसाये जाने का डर 


कुशीनगर। शिकायत मिलने पर जिले के थानों पर तैनात कुछ पुलिसकर्मियों को हटाया गया,  लेकिन पटहेरवा में एक पुलिसकर्मी को हटाने के बाद बाकी तैनात दो कारखास सिपाहियों पर अब तक कार्रवाई नहीं की जा सकी है। जो पूर्व में बैरागीपट्टी में हुए बम बलास्ट के समय निलम्बित भी हो चुके हैं। हाइवे के सहारे होने वाली तस्करी के मास्टरमाइंड और थानेदार के ये कारखास सिपाही अपराधियों के मददगार बनकर अपराध को बढ़ावा दे रहे हैं। नशा विक्रेताओं से उनकी साठगांठ जनता के लिए मुसीबत का सबब बनी है। इस बारे में अफसरों तक शिकायत पहुंचती है, लेकिन नेताओं के दबाव में उन सिपाहियों को हटाया नहीं जा रहा हैं। नतीजा यह कि चोरी-छिनैती जैसी घटनाएं बढ़ रही हैं।


सभी थानेदार किसी सिपाही को अपना कारखास बनाकर रखते हैं। वही सिपाही इलाके में सभी तरह की धन उगाही करता है। पैसों के लालच में थानेदार उनके इशारों पर नाचते हैं। ऐेसे में बेलगाम कारखास सिपाही अवैध कमाई बढ़ाने के लिए इलाके में अवैध कमाई का माध्यम तलाशते रहते हैं। इनकी जद में आम लोग भी शिकार होते हैं, छोटे मोटे मामलो में बड़ी रकम वसूली जाती हैं, जिससे सरकार की छवि तो खराब होती ही है, आमलोगों में पुलिस के प्रति भय का वातावरण भी कायम हो जाता है। यही नही, सेटिंग में महारथ हासिल किये ये कारखास सत्ता पक्ष के कुछ पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं की भी परिक्रमा करने से नही चूकते है और उनके भी आवश्यक आवश्यकताओं का विशेष ख्याल रखते हैं, जिससे जब भी इनके व साहब के खिलाफ जनता आवाज उठाती हैं तो सत्ता के गलियारों तक अपनी पहुच रखने वाले लोग इन्हें अभयदान दिलाने में महत्त्वपूर्ण भूमिका अदा कर जाते हैं, लेकिन जनता है सब समझ रही हैं। कारखास व साहब के अवैध वसूली का अंजाम यह होता हैं कि इनके शिकार लोग चोरी-छिनैती करते हैं। यूं कारखास सिपाही अपराध को बढ़ावा देते हैं। पटहेरवा थाना क्षेत्र में नशा करोबारियों ने कारखास सिपाहियों के बूते गढ़ बना रखा है।  वाटर लिफ्टिंग पंप, साइकिल, बाइक, स्कुलो से वर्तन, पंखे समेत अन्य घरेलू सामान पलक झपकते गायब किए जा रहे हैं। पुलिस इन घटनाओं की एफआईआर भी नहीं दर्ज करती है। चर्चा है कि कप्तान ने पटहेरवा से एक कारखास को तो हटा दिया, लेकिन दो कारखास अब भी बने हुए है, जो पूर्व में तुर्कपट्टी थाना क्षेत्र के वैरागीपट्टी में मस्जिद बम ब्लास्ट के समय निलम्बित भी हो चुके हैं, तुर्कपट्टी के बाद पटहेरवा में इनका आना भी कई सवाल खड़ा कर रहा है। पटहेरवा थाना आजकल दलालो को लेकर भी खूब सुर्खियां बटोर रहा है कुछ तथाकथित दलाल दिनभर थानों पर बैठ सेटिंग के खेल को अंजाम दे रहे हैं। फरियादियों के थाने के गेट तक पहुचते ही दलाल उन्हें अपनी गिरफ्त में ले ले रहे हैं और फिर साहब भी इन खास दलालो के अनुसार ही मामलो का निस्तारण कर रहे हैं, कुल मिलाकर पटहेरवा थाने को पुलिस नही, दलाल चला रहे हैं और आमजन का खूब शोषण हो रहा है, जैसी की चर्चा हैं। शिकायतों के बाद भी कारखास सिपाही नहीं हट पा रहे हैं तो समझा जा सकता है कि नियम-कानून सिर्फ कहने के लिए हैं। पुलिस विभाग में चर्चा है कि साहबों से बड़े बंगले तो इन कारखास सिपाहियों के हैं, जो हर महीने लाखों रुपये अवैध उगाही के जरिए घर ले जाते हैं।


Popular posts
14 वर्षीय नाबालिग लड़की का अपहरण कर 14 दरिंदो ने 48 घंटे तक किया बलात्कार, लड़की की मां ने कहा बेटी बनना चाहती थी अफसर
Image
शेख हारून अली के नेतृत्व में प्रदेश अध्यक्ष समाजवादी पार्टी नरेश उत्तम का हुआ जोरदार स्वागत
Image
सिंगरौली जिले के कांग्रेश नेता भास्कर मिश्रा को अज्ञात लोगों ने बेहतरीन पीटा मामला दर्ज
Image
सिंगरौली जिले के प्रभारी मंत्री श्री ब्रजेंद्र प्रताप सिंह ने शक्तिनगर स्थित मां ज्वालामुखी का दर्शन व पूजन कर लिया आशीर्वाद
Image
प्रदेश सरकार के द्वारा मुर्गी पालन के साथ ही बकरी पालन को भी दे बड़ावा :- प्रभारी मंत्री श्री सिंह
Image