अदाणी फाउंडेशन ने लगाया रक्तदान शिविर, कंपनी के 30 अधिकारियों और कर्मचारियों ने लिया हिस्सा,किया रक्तदान,रक्तदाताओं को प्रशस्ति पत्र व प्रतीक चिह्न देकर किया सम्मानित

अदाणी फाउंडेशन ने लगाया रक्तदान शिविर, कंपनी के 30 अधिकारियों और कर्मचारियों ने लिया हिस्सा,किया रक्तदान,रक्तदाताओं को प्रशस्ति पत्र व प्रतीक चिह्न देकर किया सम्मानित 

 ब्यूरो चीफ विवेक पाण्डेय की खास रिपोर्ट


जिला सिंगरौली मध्यप्रदेश रिर्टन विश्वकाशी (RV NEWS LIVE) ब्यूरो न्यूज़ - सरई तहसील अन्तर्गत झलरी गांव में भारतीय रेड क्रॉस सोसाइटी, सिंगरौली के मदद से शुक्रवार को रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। अदाणी ग्रुप के चेयरमैन श्री गौतम अदाणी के साठवें जन्मदिवस के मौके पर आयोजित इस रक्तदान शिविर में कंपनी के 30 अधिकारियों और कर्मचारियों ने हिस्सा लिया और रक्तदान किया। रक्तदान शिविर के आयोजन का मुख्य उद्देश्य इसको लेकर फैली भ्रांतियों को दूर करना है। कई लोग रक्तदान करने से कतराते हैं जबकि इससे कोई हानि नहीं होती बल्कि कई प्रकार के लाभ होते हैं। धीरे-धीरे लोग इसका महत्व समझने लगे हैं और रक्तदान के प्रति जागरूकता का माहौल भी देखने को मिल रहा है। फिर भी बहुत सारे लोग हैं, जिन्हें अभी भी रक्तदान करने से डर लगता है। हमारा कर्तव्य है कि हम उन्हें जागरूक करें। 



अत: हम सभी को रक्तदान के लिए आगे आना चाहिए। इस कार्यक्रम के आयोजन के बाद संस्था के पदाधिकारियों ने समस्त रक्तदाताओं को प्रशस्ति पत्र व प्रतीक चिह्न देकर सम्मानित किया। इस मौके पर उपस्थित भारतीय रेड क्रॉस सोसाइटी, सिंगरौली की टीम ने रक्तदान को महादान बताते हुए कहा कि हमारे द्वारा किये गए रक्तदान से कई लोगों की जिंदगी बचती है। रक्तदान का कितना महत्व है इसका अहसास हमें तब होता है जब हमारा कोई निकटतम व्यक्ति जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहा होता है। रक्तदान कर हम जहां एक ओर किसी की जान बचाते हैं वहीं दूसरी ओर इससे जबर्दस्त आत्म संतुष्टि मिलती है। इसके साथ हीं रक्तदान करने से शरीर में रक्त बनने की प्रक्रिया पहले की अपेक्षा स्वस्थ होती है। रक्तदान शरीर मे मौजूद रक्त को पुनर्जीवित करने में सक्षम होता है। इसके साथ हीं रक्तदान करने से ब्लड प्रेशर सामान्य और कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम रहता है। रक्तदान करने से शरीर में नया खून और नई सेल्स बनते हैं जो रक्त को पतला करती है और शरीर मे नई ऊर्जा का संचार होता है।

अदाणी फाउंडेशन के बारे में

1996 में स्थापित, अदाणी फाउंडेशन वर्तमान में 18 राज्यों में सक्रिय है, जिसमें देश भर के 2250 गाँव और कस्बे शामिल हैं। फाउंडेशन के पास प्रोफेशनल लोगों की टीम है, जो नवाचार, जन भागीदारी और सहयोग की भावना के साथ काम करती है। वार्षिक रूप से 3.2 मिलियन से अधिक लोगों के जीवन को प्रभावित करते हुए अदाणी फाउंडेशन चार प्रमुख क्षेत्रों- शिक्षा, सामुदायिक स्वास्थ्य, सतत आजीविका विकास और बुनियादी ढा़ंचे के विकास, पर ध्यान केंद्रित करने के साथ सामाजिक पूंजी बनाने की दिशा में काम करता है। अदाणी फाउंडेशन ग्रामीण और शहरी समुदायों के समावेशी विकास और टिकाऊ प्रगति के लिए कार्य करता है, और इस तरह, राष्ट्र-निर्माण में अपना योगदान देता है।

Popular posts
19 वर्षीय विवाहित महिला ने आत्महत्या कर अपनी जीवन लीला कर ली समाप्त पुलिस जांच में जुटी
Image
नेवाई के चंदन घस मोरे लल्लन की तर्ज़ पर राज्य सरकार को करोड़ों का नुकसान करा रहे हैं,विद्युत वितरण विभाग के भ्रष्ट कर्मचारी व अधिकारी मामला है ओबरा के अग्रवाल नगर व आसपास का
Image
नदी नहाने गए लड़के की डुबने से हुई मौत-
Image
सिंगरौली ब्रेकिंग- प्रेम प्रसंग के मामले में युवती का फांसी के फंदे पर लटकता मिला शव
Image
भास्कर मिश्रा द्वारा विधायक पुत्र की गिरफ्तारी एवं पुलिस अधिकारियों को हटाने हेतु दिया गया ज्ञापन
Image