सरकार का बड़ा फैसला, देश के 75 जिलों में 31 मार्च तक लॉकडाउन नहीं चलेंगी अंतरराज्यीय बसें

सरकार का बड़ा फैसला, देश के 75 जिलों में 31 मार्च तक लॉकडाउन नहीं चलेंगी अंतरराज्यीय बसें



कोरोना वायरस के प्रकोप के बीच सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। सरकार ने राज्य सरकारों को आदेश दिया है कि देश के उन 75 जिलों को 31 मार्च तक लॉकडाउन कर दिया जाए जहां भी कोविड 19 के मामले सामने आए हैं। इसी के साथ यहां मेट्रो और अंतरराज्यीय बसें भी नहीं चलेंगी। 


गौरतलब हो कि कोरोना वायरस के मामलों में हो रही तेजी को देखते हुए विभिन्न राज्यों द्वारा प्रसार को रोकने के लिए मुख्य शहरों को लॉकडाउन किया जा रहा है। मध्यप्रदेश के जबलपुर में शुक्रवार को कोरोना के चार मामले सामने आने बाद प्रशासन ने शहर को लॉकडाउन करने का निर्णय लिया। 

यह लॉकडाउन 21 और 22 मार्च को जारी रहेगा। इस दौरान किसी भी व्यक्ति को बिना किसी आवश्यक कार्य के घर से बाहर निकलने का मनाही है। जिला कलेक्टर सहित राज्य प्रशासन और अन्य अधिकारी जनता से सहयोग करने और सामाजिक दूरी का अभ्यास करने की अपील कर रहे हैं।

भोपाल एयरपोर्ट पर कोरोना वायरस का एक संदिग्ध मिलने के बाद कार्यवाहक मुख्यमंत्री कमलनाथ ने प्रदेश के मुख्य सचिव और डीजीपी से चर्चा की और तत्काल एहतियातन आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि आवश्यक चीजों को छोड़कर जनता की सुरक्षा को देखते हुए भोपाल को लॉक डाउन किया जाए। यदि शुरुआत में ही सावधानी बरती जाए और इस बीमारी की रोकथाम के लिए आवश्यक कदम उठा लिए जाए तो इसे फैलने से रोका जा सकता है। जनता के स्वास्थ्य की सुरक्षा को देखते हुए तत्काल सभी आवश्यक इंतजाम किए जाएं व आवश्यक कदम उठाए जाएं।

जनता कर्फ्यू के बाद चंडीगढ़ प्रशासन ने भी कोरोना वायरस से जंग लड़ने की तैयारी शुरू कर दी है। यूटी प्रशासन ने 31 मार्च तक शहर को लॉकडाउन कर दिया है। पंजाब के बाद चंडीगढ़ प्रशासन ये एहतियातन यह कदम उठाएं हैं। बता दें कि इस समय चंडीगढ़ में कोरोना के छह पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं। वहीं लगातार विदेश से आए लोगों को चिन्हित किया जा रहा है।

पंजाब को भी लॉकडाउन कर दिया गया है। लॉकडाउन का आदेश देते हुए कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि यह फैसला लोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखकर लिया गया है। पिछले कई हफ्तों में पंजाब में विदेश से भारी संख्या में लोग पहुंचे हैं और ये सभी लोग छिप गए हैं।

सरकार के लिए विदेश से लौटे ये लोग सिरदर्द बन चुके हैं। पूरा प्रशासन इन्हें ट्रैस करने में जुटा हुआ है। सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि आपाकालीन सेवाएं जारी रहेंगी। खाने-पीने और मेडिकल की दुकानें खुली रहेंगी। वहीं सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने यह भी कहा कि लॉकडाउन 31 मार्च के बाद भी बढ़ाया जा सकता है।

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने निजी लैब में कोरोना वायरस की जांच की इजाजत देने के निर्णय का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि इस महामारी के खिलाफ लड़ाई में यह तेज और सटीक परीक्षण हथियार साबित होगा। कैप्टन ने आईसीएमआर से फरीदकोट मेडिकल कॉलेज में कोरोना वायरस के जांच के लिए एक वायरोलॉजी लैब को भी मंजूरी देने का अनुरोध किया है।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार को 31 मार्च तक के लिए आवश्यक सेवाओं को छोड़कर राज्य में पूर्ण लॉकडाउन का निर्देश दिया। कोरोना पर अंकुश पाने के लिए 22 मार्च से 31 मार्च तक जरूरी सेवाओं और मेडिकल सेवाओं को छोड़कर ‘पूर्ण लॉकडाउन’ होगा। गहलोत ने शीर्ष अधिकारियों के साथ एक उच्च स्तरीय बैठक में यह निर्णय लिया।

उन्होंने कहा कि सभी सरकारी कार्यालय, मॉल फैक्टरियां, सार्वजनिक परिवहन आदि इस दौरान बंद रहेंगे। राज्य में अब तक 25 को कोविड -19 से संक्रमित पाये गये हैं और 40 अन्य की रिपोर्ट की प्रतीक्षा है।

 


Popular posts
माड़ा पुलिस ने अवैध रेत परिवहन करते तीन ट्रैक्टरों को किया जप्त। 
Image
महाराजगंज-अपने ही पिता को शादी का झांसा देकर बेटी ने किया जमीन पर कब्जा
Image
जौनपुर। युवक के ब्लाइंड मर्डर की किया खुलासा, पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार कर भेजा जेल
Image
जौनपुर स्थानीय विकास खण्ड के कृषि विज्ञान केंद्र अमिहित में मत्स्य पालन विभाग लखनऊ से सीधा संबोधन मत्स्य पालन की जानकारी दी गयी
Image
वेस्ट की जेलों में चल रहे खुलेआम मोबाइल- शासन प्रशासन मौन 
Image