लॉक डाउन के दौरान निजी स्कूलों ने मांगी फीस तो होगी 1 साल की सजा

लॉक डाउन के दौरान निजी स्कूलों ने मांगी फीस तो होगी 1 साल की सजा


संवादाता अंकित मलिक गौतमबुद्धनगर



गौतमबुद्धनगर नोएडा  कोरोना वायरस के चलते बंद चल रहे निजी स्कूल संचालक अब अभिभावकों पर बच्चों के दाखिले की फीस जमा करने का दबाव नहीं बना पाएंगे। इस संबंध में जिला प्रशासन ने शनिवार देर रात जिला शिक्षा अधिकारी को पत्र जारी कर यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं।


जिलाधिकारी के आदेश में कहा गया कि स्कूल प्रबंधन लॉकडाउन चलने तक अभिभावकों पर फीस भुगतान का दबाव नहीं बना पाए। ऐसा नहीं करने पर स्कूलों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।


ऑनलाइन कक्षाओं से कोई नहीं रहेगा वंचित


जिलाधिकारी सुहास एलवाई ने नोटिस जारी कर कहा है कि कोरोना वायरस के चलते स्कूल बंद हैं लेकिन जिन स्कूलों में भी ऑनलाइन कक्षाएं चल रही हैं, वहां फीस के लिए कोई दबाव नहीं बनाया जाएगा और न ही किसी भी छात्र-छात्रा को ऑनलाइन कक्षाओं से वंचित रखा जाएगा।


लॉकडाउन में फीस मांगी तो होगी एक साल की सजा


कोविड 19 को महामारी घोषित किए जाने के बाद अब इसे आपदा की श्रेणी में रखा गया है। ऐसे में अगर कोई भी स्कूल 14 अप्रैल यानी लॉकडाउन के बीच अभिभावकों से फीस मांगता है तो उसपर आदेश का उल्लघंन करने के लिए राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 51 के अंतर्गत कार्रवाई की जाएगी। जिसमें एक साल की सजा या अर्थदण्ड या दोनों और यदी कोई लोक क्षति होती है तो यह सजा दो वर्ष की भी हो सकती है।


Popular posts
भास्कर मिश्रा द्वारा विधायक पुत्र की गिरफ्तारी एवं पुलिस अधिकारियों को हटाने हेतु दिया गया ज्ञापन
Image
अदाणी फाउंडेशन का माहवारी स्वास्थ्य एवं जागरूकता अभियान ' प्रोजेक्ट पैड ' के तहत सेनेटरी पैड का किया वितरण
Image
नेवाई के चंदन घस मोरे लल्लन की तर्ज़ पर राज्य सरकार को करोड़ों का नुकसान करा रहे हैं,विद्युत वितरण विभाग के भ्रष्ट कर्मचारी व अधिकारी मामला है ओबरा के अग्रवाल नगर व आसपास का
Image
कांग्रेस के पार्षद प्रत्याशियों के समर्थन में मप्र कांग्रेस कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष तथा पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सिंगरौली के रामलीला मैदान में विशाल जनसभा को सम्बोधित करते हुये मप्र की शिवराज सरकार को आड़े हाथों लिया
Image
अदाणी फाउंडेशन का एनीमिया मुक्त समाज बनाने की विशेष पहल
Image