गुजरात से 1295 श्रमिको को लेकर फर्रुखाबाद पहुंची पांच घंटे विलंब से पहली ट्रेन,ट्रेन में पानी के लिए छटपटाये यात्री और बच्चे

गुजरात से 1295 श्रमिको को लेकर फर्रुखाबाद पहुंची पांच घंटे विलंब से पहली ट्रेन,ट्रेन में पानी के लिए छटपटाये यात्री और बच्चे


संवाददाता सचिन यादव फर्रुखाबाद



फर्रुखाबाद उत्तर प्रदेश फर्रुखाबाद। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के गृह प्रदेश गुजरात से 1295 श्रमिकों को लेकर पहली ट्रेन पांच घंटे की देरी से सदर रेलवे स्टेशन पर पहुंची। घर पहुंचने के लिए श्रमिकों से पूरा भाड़ा वसूला गया। पांच घंटे विलंब से 24 डिब्बों की इस श्रमिक यात्री ट्रेन केे यहां पहुंचने के कारण भीषण गर्मी में यात्री और खासकर बच्चे चुल्लूभर पानी के लिए पूरे सफर में परेशान रहे। जिला प्रशासन ने पड़ौसी जिलों के श्रमिकों को उनके घर तक पहुंचवाने के लिए रेलवे स्टेशन परिसर को बसअड्डे में तब्दील कराया। जिनमें सामाजिक दूरी बरकरार रखते हुए श्रमिक निजी जिले के लिए रवाना किये गये। इससे पहले उनकी थर्मल स्कैनिंग कराई गई। 
जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह ने पुलिस कप्तान डा0 अनिल कुमार मिश्र के साथ गुरुवार से ही इसके लिए सभी तैयारियां मुकम्मल कर ली गई थी। जिस प्लेटफार्म पर इस रेलगाड़ी को पहुंचना था। उस पर सामाजिक दूरी बरकरार रखने के लिए गोले बनवाये गये। जिससे ट्रेन उतरे यात्रियों को बस पर सवार करने के दौरान उनके बीच सामाजिक दूरी बरकरार रखी जा सके। 
गुजरात के रेलवे प्रशासन ने इस श्रमिक रेलगाड़ी से रवाना किये गये यात्रियों की जिलाबार सूची जिला प्रशासन को बीते दिन ही मुहैया करा दी थी। जिसके आधार पर इस ट्रेन से सफर कर यहां पहुंचने वाले यात्रियों को उनके गृह जिले तक पहुंचाने के लिए उत्तर प्रदेश परिवहन निगम की 40 बसों को पहले से ही तैयार कर लिया गया था। 
तय वक्त से पांच घंटे विलंब से यहां पहुंची इस श्रमिक रेलगाड़ी में फर्रुखाबाद के 241,कासगंज के 152,एटा के 12,हरदोई के 113,बंदायू 201,पीलीभीत 120,लखीमपुर खीरी तथा उन्नाव के पांच-पांच,बनारस के 4,अमेठी के 1 तथा सर्वाधिक 541 शांहजहांपुर के श्रमिक इस रेलगाड़ी से यहां पहुंचे थे। इनके लिए जिला प्रशासन ने लंच पैकेट और पानी की व्यवस्था कराई थी। 
श्रमिकोको लेकर यहां शुक्रवार को पहुंची पहली ट्रेन के आने से कई घंटे पहले एंटी कोंविड टीम ने सदर रेलवे स्टेशन पर डेरा जमा लिया था। जिससे यहां पहुंचे श्रमिकों की थर्मल स्कैनिंग कराने के बाद उन्हें बसों से सम्बन्धित जिलों को भिजवाया जा सके। श्रमिकों को लेकर 48 बसों केे रवाना हो जाने के बाद जिला प्रशासन ने राहत की सांस ली है।


Popular posts
कोरोना संक्रमण के बढ़ते आंकड़ों के बीच सीएम शिवराज सिंह का बड़ा फैसला
Image
बच्चे की चाह में भांजे से रेप करवाता था पति हुआ पर्दाफाश पति, सास,ससुर, ताऊ ससुर, दो ननद व भांजा सहित 7 लोगों पर FIR दर्ज
Image
लिव इन पार्टनर निकला हैवान : महिला की नाबालिग बेटी से की दरिंदगी, पीड़िता ने मां को बताई आपबीती
Image
इलाहाबाद हाईकोर्ट का आदेश:UP के 5 शहरों में हो 26 अप्रैल तक हो कंप्लीट लॉकडाउन; ये वही जिले जहां हो चुके मतदान, सरकार ने कहा- नहीं होगी पूर्ण तालाबंदी
Image
सिंगरौली मध्यप्रदेश एनसीएल अमलोरी जीएम ऑफिस के कैम्पस में टायर स्क्रैप में भीषण आग
Image