साइंस कम्युनिकेटर ग्रुप द्वारा नोनापार देवरिया में आयोजित कोरोना जागरूकता विमर्श कार्यक्रम में ऑनलाइन कविता प्रस्तुत करते प्रमिला तिवारी

साइंस कम्युनिकेटर ग्रुप द्वारा नोनापार देवरिया में आयोजित कोरोना जागरूकता विमर्श कार्यक्रम में ऑनलाइन कविता प्रस्तुत करते प्रमिला तिवारी


संवाददाता फ़िरोज़ खान देवरिया



देवरिया। साइंस कम्युनिकेटर ग्रुप द्वारा नोनापार देवरिया में आयोजित कोरोना जागरूकता विमर्श कार्यक्रम में ऑनलाइन कविता प्रस्तुत करते प्रमिला तिवारी -डरो ना यह है कोरोना 


रचनाकार- प्रमिला तिवारी (रागिनी)


चारों ओर मचा है रोना ही रोना, मेरे दोस्तों तुम इस से डरो ना यह है कोरोना।‌‌
बाहर जाने की जिद तुम करो ना, परिवार में ही रहो ना तुम डरो ना यह है कोरोना
हाथ जोड़ ही अभिवादन करो ना, वर्तमान हो या भविष्य नमस्ते ही करो ना।
घर ही एक मंदिर है, अब तो तुम यह समझो ना, बाहर मृत्यु विकराल है तुम मृत्यु से डरो ना,
मेरे दोस्तों तुम इसे समझो ना, यह है महामारी कोरोना।  घर पर हो यदि तू -तू मैं -मैं तो भी तुम डटे रहो ना,
बाहर पूरे संसार में हड़कंप है, इसीलिए घर पर ही रहो ना, मेरे दोस्तों तुम इससे डरो ना यह है कोरोना।
ना देखा था, ना सुना था, ना सोचा था, संसार का थमना, मजदूरों, बच्चों, बड़ों का भूखे मीलो पैदल चलना,
सड़कों पर सोते हुए रोंदे जाना, घर पहुंचने को तरस जाना,
चारों तरफ हाहाकार से दुखित है कोना-कोना , मेरे दोस्त तुम इससे डरो ना यह है कोरोना।
पत्नी सीने पर पत्थर रख अपने पति से कहती,
तुम इस तरह अंतिम अलविदा कहो ना, मैं चीखती हूं! चित्कारती हूं !कि हे प्राण प्रिय तुम मेरे साथ रहो ना,
मेरे दोस्तों यह महामारी है, एक प्रलय है, तुम इस से डरो ना।
यह है कोरोना।
सूना हो गया परिवार, अब कुछ सदस्य रहे ना, हे ईश्वर। हे परमपिता। बस, अब बस, तुम त्राहिमाम करो ना,
अपनी असीम कृपा दृष्टि से यह विपदा हरो ना, हे सृष्टि! हे ब्रह्मांड!आपको दंडवत प्रणाम,
यह दहलाना, झकझोरना बंद करो ना, मेरे दोस्तों तुम डरोना
यह है कोरोना
वो वीर सिपाही,वो वीर चिकित्सक योद्धा, वह भाई सफाई कर्मियों को तुम नतमस्तक प्रणाम करो ना,
मेरे दोस्तों तुम सुरक्षित, परिवार सुरक्षित, तो आगे सब ठीक ही है होना, अभी तो बस यही शोर है कोरोना, तुम डरो ना, डटकर मुकाबला करो ना, मेरे दोस्तों यह है कोरोना।
ओ नन्हे योद्धा, प्यारे बच्चों तुम अभी थोड़ा इंतजार और करोना, खूब खेलो, कहानी पढ़ो, अध्ययन के साथ-साथ थोड़ा और सोना,
तुम घर पर ही मौज करो, सांप- सीढ़ी, लूडो, कैरम खेलो ना,ननहे योद्धा तुम थोड़ा और डटे रहो ना, मेरे दोस्तों तुम डरो ना यह है कोरोना। बस! इस हड़कंप को थोड़ा ही और ही तुम सब सहोना, बस अब हार ही रहा है कोरोना।
मेरे दोस्तों तुम इस से डरोना यह है कोरोना।


प्रमिला तिवारी, प्राचार्य , सीबीएसई स्कूल महाराष्ट्र।


Popular posts
कांग्रेस के पार्षद प्रत्याशियों के समर्थन में मप्र कांग्रेस कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष तथा पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सिंगरौली के रामलीला मैदान में विशाल जनसभा को सम्बोधित करते हुये मप्र की शिवराज सरकार को आड़े हाथों लिया
Image
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का एक ऐसा भक्त जिसने 2022 चुनाव जिताने का और योगी महाराज को गद्दी पर बैठाने का लिया था संकल्प और मांगी थी मन्नत तो कैसे पूरा किया अपना संकल्प और मन्नत
Image
अदाणी फाउंडेशन ने लगाया रक्तदान शिविर, कंपनी के 30 अधिकारियों और कर्मचारियों ने लिया हिस्सा,किया रक्तदान,रक्तदाताओं को प्रशस्ति पत्र व प्रतीक चिह्न देकर किया सम्मानित
Image
जनपद मिर्जापुर थाना कोतवाली कटरा क्षेत्र अंतर्गत दुर्गा बाजार के पास युवक की हत्या की घटना कारित करने वाले 06 अभियुक्त हुए गिरफ्तार
Image
मंगलवार को घर से सज धज कर बारात के लिए कोयलखुथ गए‌ 20 वर्षीय युवक मिथिलेश कुमार नाई की कुआं से शव मिलने के बाद क्षेत्र में सनसनी का माहौल है
Image