साइंस कम्युनिकेटर ग्रुप द्वारा नोनापार देवरिया में आयोजित कोरोना जागरूकता विमर्श कार्यक्रम में ऑनलाइन कविता प्रस्तुत करते प्रमिला तिवारी

साइंस कम्युनिकेटर ग्रुप द्वारा नोनापार देवरिया में आयोजित कोरोना जागरूकता विमर्श कार्यक्रम में ऑनलाइन कविता प्रस्तुत करते प्रमिला तिवारी


संवाददाता फ़िरोज़ खान देवरिया



देवरिया। साइंस कम्युनिकेटर ग्रुप द्वारा नोनापार देवरिया में आयोजित कोरोना जागरूकता विमर्श कार्यक्रम में ऑनलाइन कविता प्रस्तुत करते प्रमिला तिवारी -डरो ना यह है कोरोना 


रचनाकार- प्रमिला तिवारी (रागिनी)


चारों ओर मचा है रोना ही रोना, मेरे दोस्तों तुम इस से डरो ना यह है कोरोना।‌‌
बाहर जाने की जिद तुम करो ना, परिवार में ही रहो ना तुम डरो ना यह है कोरोना
हाथ जोड़ ही अभिवादन करो ना, वर्तमान हो या भविष्य नमस्ते ही करो ना।
घर ही एक मंदिर है, अब तो तुम यह समझो ना, बाहर मृत्यु विकराल है तुम मृत्यु से डरो ना,
मेरे दोस्तों तुम इसे समझो ना, यह है महामारी कोरोना।  घर पर हो यदि तू -तू मैं -मैं तो भी तुम डटे रहो ना,
बाहर पूरे संसार में हड़कंप है, इसीलिए घर पर ही रहो ना, मेरे दोस्तों तुम इससे डरो ना यह है कोरोना।
ना देखा था, ना सुना था, ना सोचा था, संसार का थमना, मजदूरों, बच्चों, बड़ों का भूखे मीलो पैदल चलना,
सड़कों पर सोते हुए रोंदे जाना, घर पहुंचने को तरस जाना,
चारों तरफ हाहाकार से दुखित है कोना-कोना , मेरे दोस्त तुम इससे डरो ना यह है कोरोना।
पत्नी सीने पर पत्थर रख अपने पति से कहती,
तुम इस तरह अंतिम अलविदा कहो ना, मैं चीखती हूं! चित्कारती हूं !कि हे प्राण प्रिय तुम मेरे साथ रहो ना,
मेरे दोस्तों यह महामारी है, एक प्रलय है, तुम इस से डरो ना।
यह है कोरोना।
सूना हो गया परिवार, अब कुछ सदस्य रहे ना, हे ईश्वर। हे परमपिता। बस, अब बस, तुम त्राहिमाम करो ना,
अपनी असीम कृपा दृष्टि से यह विपदा हरो ना, हे सृष्टि! हे ब्रह्मांड!आपको दंडवत प्रणाम,
यह दहलाना, झकझोरना बंद करो ना, मेरे दोस्तों तुम डरोना
यह है कोरोना
वो वीर सिपाही,वो वीर चिकित्सक योद्धा, वह भाई सफाई कर्मियों को तुम नतमस्तक प्रणाम करो ना,
मेरे दोस्तों तुम सुरक्षित, परिवार सुरक्षित, तो आगे सब ठीक ही है होना, अभी तो बस यही शोर है कोरोना, तुम डरो ना, डटकर मुकाबला करो ना, मेरे दोस्तों यह है कोरोना।
ओ नन्हे योद्धा, प्यारे बच्चों तुम अभी थोड़ा इंतजार और करोना, खूब खेलो, कहानी पढ़ो, अध्ययन के साथ-साथ थोड़ा और सोना,
तुम घर पर ही मौज करो, सांप- सीढ़ी, लूडो, कैरम खेलो ना,ननहे योद्धा तुम थोड़ा और डटे रहो ना, मेरे दोस्तों तुम डरो ना यह है कोरोना। बस! इस हड़कंप को थोड़ा ही और ही तुम सब सहोना, बस अब हार ही रहा है कोरोना।
मेरे दोस्तों तुम इस से डरोना यह है कोरोना।


प्रमिला तिवारी, प्राचार्य , सीबीएसई स्कूल महाराष्ट्र।


Popular posts
ब्रेकिंग न्यूज़ - एस वी एस उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के संस्थापक श्री वीरेंद्र सिंह यादव का हुआ निधन पूरा परिवार एवं ग्रामीण वासी शोकाकुल
Image
ब्रेकिंग न्यूज़ -रानी पाल को प्रधान देखने के लिए लोगों ने भगवान से की मनोकामनाएं
Image
सरई थाना अंतर्गत ग्राम खनुआ नवा टोला में एक अनोखी पहल देखने को मिली
Image
सिंगरौली जिले के सरई थाना अंतर्गत ग्राम जट्टाटोला में मानवता को किया शर्मशार रात जंगल में ही हॉस्पिटल कर्मचारियों एवं एंबुलेंस ड्राइवर की लापरवाहीयों से बच्चा पैदा हुआ रोड पर
Image
दिल्ली, यूपी में एक हफ्ते के लिए बढ़ा लॉकडाउन, इऩ राज्यों में कल से संपूर्ण लॉकडाउन, जानें- क्या-क्या बंद रहेगा
Image