स्वच्छ भारत की खुलती पोल,स्थानीय अधिकारी हो गये काम चोर नही निभा रहे अपनी जिम्मेदारी

स्वच्छ भारत की खुलती पोल,स्थानीय अधिकारी हो गये काम चोर नही निभा रहे अपनी जिम्मेदारी


संवाददाता मोहम्मद आरिफ जौनपुर



जनपद जौनपुर उ.प्र मछलीशहर तहसील क्षेत्र के कोतवाली अंतर्गत जिला मुख्यालय से 30 किमी की दूरी पर स्थित और दो विधानसभाओ से घिरा बाजार बरईपार का आलम यह है कि कई वर्षो पहले बनी नाली से बरसाती दिनों के इतर दुकानदारों के सामने पानी लगातार बह रहा है। जिसके कारण दुकानदारों की व्यावसायिक क्षति के साथ साथ बाजार निवासियों के बच्चे  बुजुर्ग संक्रामक बीमारियों की चपेट में आ रहे है। राष्ट्रपिता गांधी के सपनो को साकार रूप देने के लिए उनके जन्मदिवस 2 अक्टूबर 2014 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वच्छ भारत अभियान का शुभारम्भ किया। इस अभियान का लक्ष्य स्वच्छ भारत को हासिल करना था ताकि बापू के 150 वीं जयंती को इस लक्ष्य की प्राप्ति के रूप में मनाया जा सके। अब इस लक्ष्य की प्राप्ति कितनी हो सकी है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जिले के तमाम क्षेत्रो में आज भी बजबजाती नालियाँ, बरसात के दिनों में सड़को पर सड़ता पानी दिखायी पड़ता है। कुछ ऐसे ही दर्द को बयां करता दो तहसीलो सदर और मछलीशहर में पड़ने वाला कस्बा बरईपार है। जहाँ जैसे-तैसे वर्षो पूर्व नाली निर्माण तो हुआ लेकिन नाली के जलनिकासी हेतु कोई स्थायी उपचार नही की गयी। जिस कारण से नाली का अंतिम सिरा कई जगह मुक्त अवस्था में छोड़ दिया गया मानो निर्माणकर्ता रूसो के प्रकृतिवादी शिक्षा से बहृत अधिक अभिप्रेरित हो। नाली की गहराई क्षमता होने और कुछ सिरों के अस्थायी निकासी से जुड़ने कारण लोगो को लाभ भी हुआ। जिसके कारण लोग सन्तुष्ट नजर आये। लेकिन पिछले कई वर्षों से नाली की सफाई न होने से अधिकांश जगह नाली पूरी तरह जाम हो गयी है जिस कारण बाजारवासियों के द्वार पर काफी मात्रा में पानी बहने लगा है। पीडित परिवारों में विजय हलवाई, अजय हलवाई ने कहा कि हमारे परिवार ने अपने सामने  की पूरी नाली जो पूरी तरह कीचड़यृक्त थी, जिसकी सफाई की बावजूद इसके हर सुबह हमलोग नाली के जमा जल को निकालते है। फिर भी हमारे सामने नाली का दूषित जलजमाव बना रहता है जिस कारण समस्या जस की तस है और हमलोग बहुत मानसिक रूप से परेशान है। समस्या के इसी क्रम में पीड़ित विजय गुप्ता और अजय गुप्ता ने कहा कि दूषित जल के कारण कई बार हमलोगों के बच्चे और वुद्ध पिता बीमार पड़ चुके है। कई ग्राम पंचायत क्षेत्रोर से बाजार बरईपार घिरा हुआ है। जिसका एक बड़ा हिस्सा नेवढ़िया ग्राम में है। नाली के बहते जल की समस्या भी ज्यादातर इसी हिस्से के अंतर्गत है। लोगो के समस्याओं के निदान के संदर्भ में नेवढिया ग्राम प्रधान राजेन्द्र याद्व ने कहा कि नाली सफाई का मद शासन स्तर से न मिलने के बावजूद पिछले वर्षों अपने कोष से हमने नाली की सफाई करवाई लेकिन लापरवाह लोगो के कारण नाली जाम हो चुकी है। उन्होंने आगे कहा कि बहुत जल्द सफाईकर्मियों के द्वारा नाली साफ कराकर बाजारवासियों को इस समस्या से निजात, दिलाएंगे


Popular posts
छत्तीसगढ़ में दुर्गा विसर्जन के जुलूस पर चढ़ाई कार एक की मौत, 26 से ज्यादा लोग घायल
Image
बड़ी खबर -एसडीएम संपदा सर्राफ के धरना प्रदर्शन स्थल पर पहुंचते ही एस्सार कंपनी पर प्रदर्शनकारियों के बीच क्या हुआ
Image
ऑटो और कार की भिड़ंत दो की मौत 4 घायल
Image
बकरी चराने गए व्यक्ति के ऊपर भालू ने किया अटैक दूसरे दिन मिला मृतक का डेड बॉडी क्षेत्रीय वासी भालू से परेशान
Image
ग्राम बडो़खर की घटना पति को नहलाने गई नवविवाहिता की कुएं में गिरने से दर्दनाक मौत
Image