डीएम ने ऐतिहासिक श्रृंगीरामपुर में तलाशीं पर्यटन और विकास की संभावनायें, क्षेत्रीय विधायक के साथ भ्रमण कर लिया प्राचीन स्थलों का जायजा

डीएम ने ऐतिहासिक श्रृंगीरामपुर में तलाशीं पर्यटन और विकास की संभावनायें, क्षेत्रीय विधायक के साथ भ्रमण कर लिया प्राचीन स्थलों का जायजा


संवाददाता सचिन यादव फर्रुखाबाद



क्षेत्रीय विधायक के साथ भ्रमण कर लिया प्राचीन स्थलों का जायजा, अध्यात्मिक और धार्मिक मान्यताओं को क्षेत्रवासियों से सुना सिंधिया राजपरिवार में है श्रृंगीरामपुर की विशेष मान्यता, विकास के लिए पर्यटन विभाग देगा पचास लाख रुपये, राजपरिवार की ओर से बनवाये गये मंदिर और गंगा तट, भगवान राम के जन्म से भी सम्बन्धित है श्रृंगीरामपुर का इतिहास


जनपद फर्रुखाबाद उत्तर प्रदेश रिर्टन विश्वकाशी (RV NEWS LIVE) व्यूरो न्यूज- फर्रुखाबाद। त्रेताकालीन युग में अयोध्या के राजा दशरथ के यहां पुत्रयेष्टि यज्ञ कराने वाले श्रृंगी )षि की जन्मभूमि श्रृंगीरामपुर आज भी जिले की धरोहर के रूप में विकास खण्ड कमालगंज के एक क्षेत्र में स्थापित है। इन्हीं श्रृंगीषि के यज्ञ कराने से अयोध्या में भगवान राम सहित चार राजकुमारों का जन्म हुआ। तभी से यह पावन भूमि नमन योग्य बताई जाती रही है। गंगा तट पर स्थापित श्रृंगीरामपुर नगरी युगो-युगो से अपनी ऐतिहासिकता को प्रमाणित कर रही है। पिछले दिनों क्षेत्रीय विधायक नागेन्द्र सिंह ने यहां के ऐतिहासिक और अध्यात्मिक विकास के लिए विधानसभा में सवाल उठाया। उस पर ध्यान दिया गया और श्रृंगीरामपुर के विकास के लिए संभावनायें पैदा हुई हैं जिसके चलते आज जिले के तेज तर्रार जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह ने विधायक नागेन्द्र सिंह राठौर और अपने मातहतों के साथ श्रृंगीरामपुर का भ्रमण करके वहां के ऐतिहासिक स्थल देखे। इसके साथ ही इस क्षेत्र के अध्यात्मिक, धार्मिक और पर्यटन सम्बन्धित विकास की संभावनायें तलाशीं।



क्षेत्रीय विधायक नागेन्द्र सिंह राठौर,जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह उप जिलाधिकारी अनिल कुमार गंगा समग्र विचार मंच के संयोजक भूपेन्द्र प्रताप सिंह,प्रधान बबुआ बाजपेयी व अन्य गणमान्य लोगों के साथ में जिलाधिकारी सुबह श्रृंगीरामपुर पहुंचे और वहां स्थापित हजारों वर्ष पुराने श्रृंगीषि के मंदिर में माथा टेककर सभी के मंगल दुआयें कीं। इस दौरान उन्होंने क्षेत्र की साफ-सफाई कराने के निर्देश भी दिये। भ्रमण के दौरान डीएम ने क्षेत्रीय लोगों से मिलकर वहां की ऐतिहासिकता के बारे में चर्चा की। बुजुर्गो ने डीएम को यहां के अध्यात्मिक, सांस्कृतिक और धार्मिक महत्व के बारे में बताया। जिलाधिकारी बोले कि युगो-युगो से पवित्रतम स्थल बना श्रृंगीरामपुर अब विकास से अछूता नहीं रहेगा। क्षेत्रीय विधायक नागेन्द्र सिंह राठौर की पहल पर क्षेत्र के विकास के लिए धन आवंटित होने की संभावनायें बनी हैं। इसी के मद्देनजर निरीक्षण किया जा रहा है। श्रृंगीरामपुर को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जायेगा। जिससे सारी दुनिया में जिले का नाम रोशन होगा। उन्होंने कहा कि हम अपने इतिहास को संरक्षित करने का काम करें तभी कौम जिन्दा रह सकेगी क्योंकि जिन कौमों का इतिहास नष्ट हो जाता है वे स्वयं ही नष्ट हो जाती हैं। डीएम ने विधायक नागेन्द्र सिंह को इस बात के लिए बधाई दी कि उन्होंने श्रृंगीरामपुर जैसे धार्मिक स्थल के लिए विधानसभा में सवाल उठाया और वहां के विकास की संभावनायें बनी हैं। जिलाधिकारी बोले कि ऐसे कई स्थान हैं जैसे संकिसा, कंपिल, पांचाल घाट, टाउन हाल तत्कालीन राजा दु्रपद का किला सहित तमाम ऐसे स्थान हैं जहां पर्यटन व ऐतिहासिक व धार्मिक महत्व को खोजा जा सकता है। इन सभी के लिए प्रयास किये जायेंगे। जिलाधिकारी की इस दौरे से श्रृंगीरामपुर के विकास की संभावनाओं को बल मिला है। यहां के विकास के लिए पर्यटन विभाग ने 50 लाख रुपये की धनराशि स्वीकृत की है।


Popular posts
महाराजगंज-अपने ही पिता को शादी का झांसा देकर बेटी ने किया जमीन पर कब्जा
Image
कोरोना वायरस जैसे महामारी की झुठी अफवाह फैलाने वाला पत्रकार हुआ गिरफ्तार,अपराधिक मामला दर्ज
Image
माड़ा पुलिस ने अवैध रेत परिवहन करते तीन ट्रैक्टरों को किया जप्त। 
Image
जौनपुर। युवक के ब्लाइंड मर्डर की किया खुलासा, पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार कर भेजा जेल
Image
सिंगरौली जिले के नवानगर थाना क्षेत्र अंतर्गत निगाही एन.सी.एल. नर्सरी के पास एक अज्ञात व्यक्ति की लाश मिली है।
Image