चिटफंड के बड़ी मछलियों पर कार्यवाही में पुलिस नहीं दिखा रही रूचि

चिटफंड के बड़ी मछलियों पर कार्यवाही में पुलिस नहीं दिखा रही रूचि


जिला सीधी संवाददाता अजय पाण्डेय



चिटफंड के बड़ी मछलियों पर कार्यवाही में पुलिस नहीं दिखा रही रूचि जिन्होने मालिक बनकर एजेंटों द्वारा करवाई शहर में लूट बेचारे एजेंट क्या करें बनकर बना रहे महल, उन तक नहीं जा रही पुलिस की नजर


मध्यप्रदेश जिला सीधी रिटर्न विश्वकाशी(RV NEWS LIVE) ब्यूरो न्यूज़- जिले में चिटफंड कंपनी के नाम पर लम्बे घोटाला होने के बाद फिलहाल दो की गिरफ्तारी की गई है लेकिन बड़ी मछलियों पर कार्यवाही करने पुलिस की रुचि नहीं दिख रही है जबकि शहर के कुछ ऐसे एजेंट हैं जिन्होने कंपनी से जुड़कर लम्बी रकम अर्जित कर चुके हैं जो शहर में आलीशान भवन भी बनाना शुरू कर दिये हैं। लेकिन पुलिस ने मात्र दो लोगों की गिरफ्तारी करने के बाद शेष लोगों पर कार्यवाही करने से परहेज कर रही है। जाहिर है कि इस मामले में करीब दर्जन भर लोग लिप्त हैं लेकिन पुलिस की नजर उन तक नहीं पहुंच पा रही है।
ज्ञात हो कि चिटफंड कंपनी के मामले में बीते दिनों दोनों लोगों के खिलाफ कार्यवाही कर गिरफ्तारी की जा चुकी है। इस मामले को लेकर शहर में संचालित जीवन सरल इन्फ्रा हाइट एण्ड प्रापर्टीज लिमिटेड कंपनी के संचालको द्वारा लोगों को फर्जी ब्राण्ड बनाकर पैसा लूटना एवं लालच देकर करोड़ों रूपये की ठगी की गई थी। पुलिस द्वारा इस मामले में कंपनी के डायरेक्टर रफीक पठान एवं एक अन्य के खिलाफ धारा ४२०, ४६५, ४६६, ४६७ का मामला पंजीबद्ध कर गिरफ्तार करने के बाद जेल भेज दिया है जबकि इस कंपनी से जुडऩे वाले बड़े लोगों पर कार्यवाही से परहेज किया जा रहा है। इस बात की शिकायत रफीक पठान के भाई द्वारा पुलिस अधीक्षक से की गई है जिन्होने बताया कि मुख्य आरोपी विनोद यादव तथा अजीत गोस्वामी की गिरफ्तारी अभी नहीं की गई है। इसके अलावा अन्य लोगों को भी पुलिस द्वारा गिरफ्तार करने की बात दूर कार्यवाही तक नहीं की गई। उनके अनुसार इस मामले में दर्जन भर लोग लिप्त थे जिनमें की दो-तीन लोगों ने काफी रकम अर्जित कर चुके हैं। लेकिन उन तक पुलिस की नजर अभी तक नहीं पहुंच पा रही है। मामले को लेकर पुलिस अधीक्षक से शिकायत करने के बाद उन्होने उम्मीद जताई है कि निष्पक्ष कार्यवाही होगी तो ऐसे लोग भी गिरफ्त में आएंगेे तो काफी कमाई अर्जित करने के बाद सच्चाई का पर्दाफाश सामने आ सकता है।



इन्होने अर्जित की लम्बी रकम, फिर भी कार्यवाही नहीं


जीवन सरल इन्फ्रा हाइट एण्ड प्रापटीज लिमिटेड कंपनी के संचालक रफीक पठान के साथ मिलकर लम्बी रकम अर्जित करने वालों में विक्रम सिंह चौहान का नाम सबसे पहले आ रहा है। जिनके द्वारा सीधी शहर में आलीशान भवन बनवाया जा रहा है। डैनिहा में महंगी जमीन लेकर तीन मंजिला भवन बनाने का काम कुछ महीनों से शुरू किया गया था जो आज भी जारी है। इसी तरह अरूण कुमार मिश्रा जो भी रफीक पठान के साथ एजेंट बतौर काम करते हुए लम्बी कमाई अर्जित कर चुके हैं। लेकिन इन पर कार्यवाही की आच न आने के पीछे कई तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं। सूत्रों की मानें तो विक्रम सिंह चौहान के पास इसके पहले गृहग्राम में काफी कम सम्पत्ति थी अचानक 8 साल बाद ऐसा क्या कारनामा हो गया कि महंगे दर पर डैनिहा में जमीन अर्जित करने के बाद अब आलीशान भवन भी बनाया जा रहा है। क्या उन तक पुलिस की नजर नहीं पहुंच रही है। इसके अलावा राजकुशल रजक रोहिणी प्रसाद रजक, सुरेश कुमार पटेल, संतोष कुमार साहू सहित कुछ अन्य नाम हैं।
ये हैं पठान के खास किरदार
जीवन सरल इन्फ्रा कंपनी में कार्यरत रफीक पठान के खास किरदार रहने वालों में विक्रम सिंह चौहान एवं अरूण मिश्रा का नाम सुर्खियों में रहता था। उस समय इनकी सर्वाधिक शिकायतें भी मिल रही थीं जिनके द्वारा जगह-जगह लोगों से मोटी रकम लेकर पांच वर्ष के अंदर दोगुना रकम देने के नाम पर पैसा ऐंठा जा रहा था लेकिन अभी तक कोई कार्यवाही न होना लोगों की समझ से परे है। जबकि यह सबको मालुम है कि आरोपी रफीक पठान के दाहिने एवं बाये अंग में रहने वाले विक्रम एवं अरूण के कारनामे किसी से छिपे नही हैं। फिर भी पुलिस द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है।


Popular posts
भुगतान न होने की दशा पर होगा अनिश्चितकालीन कोयला ट्रांसपोर्ट बाधित
Image
ग्राम पंचायत क्षेत्र हरदी में सरपंच सचिव और रोजगार सचिव मिलकर फर्जी मास्टर रोल भर कर सारे मजदुर का पैसा हरण किया जा रहा है
Image
सोसल मीडिया पर महिला बनकर ब्लैकमेल करने वाला 15 वर्षीय हैकर को मोरवा पुलिस ने किया गिरफ्तार।
Image
सिंगरौली जिले से जयंत उप चेक पोस्ट बना अवैध वसूली का अड्डा, मालवाहको और बड़े वाहनों से लिया जाता है मोटी रकम
Image
स्कूल खोलने से पहले होगा शिक्षकों का टीकाकरण,शिक्षकों का 26 से 31 जुलाई में होगा टीकाकरण
Image