डीएम ने क्षेत्रों में अधिक से अधिक सैपलिंग कराने के दिये निर्देश,अस्पताल के निरीक्षण में डीएम को मिला काफी कुछ सुधार

डीएम ने क्षेत्रों में अधिक से अधिक सैपलिंग कराने के दिये निर्देश,अस्पताल के निरीक्षण में डीएम को मिला काफी कुछ सुधार


संवाददाता सचिन यादव फर्रुखाबाद



जनपद फर्रुखाबाद उत्तर प्रदेश रिर्टन विश्वकाशी (RV NEWS LIVE) व्यूरो न्यूज- फर्रुखाबाद अस्पताल के निरीक्षण में डीएम को मिला काफी कुछ सुधार, भोजन की परखी गुणवत्ता, ली सफाई व्यवस्था की जानकारी फैसिलिटी क्वारेन्टाइन सात मरीजों के लिये हालचाल, प्रत्येक मरीज को केतली व लाॅजिस्टिक सामग्री उपलब्ध कराने के दिये निर्देश, डीएम ने फोन पर मरीजों से ली भोजन की गुणवत्ता की जानकारी, चिकित्सकों के साथ बैठक कर किया विचार-विमर्श


 फर्रुखाबाद । जिले में कोरोना महामारी के नियंत्रण के लिये काफी चिन्तित रहने वाले जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह ने क्षेत्र में अधिक से अधिक सैंपलिंग करने के निर्देश दिये हैं। डीएम ने कहा कि जितने ज्यादा मरीज खुलकर सामने आ जायेंगे उतना अधिक इलाज हो जायेगा अन्यथा भविष्य में संक्रमण से नुकसान का खतरा अधिक रहेगा। इसलिए अधिक से अधिक सैंपलिंग की जाये और अधिक से अधिक मरीजों का इलाज करके उन्हें कोविड-19 के खतरे से मुक्ति दिलाये जाने का काम किया जाये।


डीएम ने कहा कि कोरोना का संक्रमण संक्रमित मरीज को छूने से होता है। एक भी मरीज संक्रमित न रह जाये यह हमारा प्रयास होना चाहिए। उन्होंने मातहतों को निर्देशित किया कि जहां भी शक हो तुरन्त चेक करें और यदि कोई संक्रमित मिलता है तो उसे सुविधानुसार तुरन्त आइसोलेटेड करके अस्पताल लायें या होम आइसोलेट करें ताकि संक्रमण से मुक्ति दिलाई जा सके। डीएम ने सुबह कोविड-19 एल 1 समकक्ष अस्पताल डाॅ. अनार सिंह मेडिकल कालेज का औचक निरीक्षण किया। जहां उन्होंने कोविड मरीजों से फोन पर बातचीत कर भोजन व सफाई व्यवस्था की जानकारी ली। जिसमें मरीजों ने काफी कुछ सुधार बताया और साफ-सफाई में भी इजाफा होने की बात कही। मरीजों द्वारा फीड बैक में बताया गया कि अच्छा भोजन मिलता है। पहले की अपेक्षा सफाई में भी सुधार हुआ है। एल 1 चिकित्सालय में 10 मरीज भर्ती बताये गये। जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि प्रत्येक मरीज को भर्ती होने के समय केतली व लाॅजिस्टिक सामग्री दी जाये। 7 मरीज फैसिलिटी क्वारेन्टाइन बताये गये जिनके हालचाल जिलाधिकारी ने स्वयं लिये। डीएम ने आह्वान किया कि प्रशासन तो संक्रमण से मुकाबले में लगा ही है। इसके लिए जन सहयोग की भी जरूरत है। सभी लोग सावधानी रखें क्योंकि कोरोना का मुकम्मल इलाज ही जागरूकता है।
वहीं दूसरी ओर जिलाधिकारी ने शासनादेश का पालन करते हुए सुबह आबकारी अधिकारी कार्यालय का औचक निरीक्षण किया और वहां की व्यवस्थाओं को जांचा परखा। कार्यालय में बेहतर सफाई कराने के निर्देश भी डीएम ने दिये और कहा कि गार्ड फाइल, कर्मचारियों की पत्रावलियां सही रखी जायें। कर्मचारियों की पत्रावलियों का डीएम ने अवलोकन किया और जिला आबकारी अधिकारी को निर्देशित किया कि वे सभी पत्रावलियों को देखकर अद्याविधिक कराना सुनिश्चित करें। डीएम ने कार्यालय के रख-रखाव को देखा और जहां पर खामी मिली उसे तुरन्त सही कराने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने कहा कि शासनादेश है कि वर्ष में कम से कम 241 निरीक्षण किये जायें। उसी के अन्तर्गत कभी भी निरीक्षण हो सकता है इसलिए सभी अधिकारी अपने कार्यालय की व्यवस्था को ठीक रखें अन्यथा की स्थिति में शासन द्वारा कार्रवाई भी की जा सकती है। जिलाधिकारी ने आबकारी विभाग के कर्मचारियों से बातचीत की और उनकी समस्याओं को जाना। इस मौके पर डीएम को आबकारी विभाग के सभी कर्मचारी व अधिकारी अपनी डयूटी तैनात मिले। इस बात पर डीएम ने खुशी का इजहार किया।


Popular posts
ब्रेकिंग न्यूज़ - एस वी एस उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के संस्थापक श्री वीरेंद्र सिंह यादव का हुआ निधन पूरा परिवार एवं ग्रामीण वासी शोकाकुल
Image
लॉकडाउन में दाने दाने को मोहताज मजदूर और ठेकेदार पत्नी का जेवर बेच भर रहे बच्चों का पेट
Image
एस्सार पवार प्लांट के अधिकारियों के द्वारा ठेकेदारों को दी जा रही है धमकी
Image
ब्रेकिंग न्यूज़ -रानी पाल को प्रधान देखने के लिए लोगों ने भगवान से की मनोकामनाएं
Image
उत्तर प्रदेश में 24 मई तक बढ़ाया गया कोरोना कर्फ्यू, मंत्रिपरिषद की बैठक में फैसला
Image