सिंगरौली जिले से जीपी पैलेस होटल के संचालक बिहार के शातिर अपराधी चंदन सुनार को वेस्ट बंगाल पुलिस ने किया गिरफ्तार कई वर्षों से नाम बदलकर रह रहा था सिंगरौली में

सिंगरौली जिले से जीपी पैलेस होटल के संचालक बिहार के शातिर अपराधी चंदन सुनार को वेस्ट बंगाल पुलिस ने किया गिरफ्तार कई वर्षों से नाम बदलकर रह रहा था सिंगरौली में

आर वी न्यूज़ जिला ब्यूरो चीफ विवेक पाण्डेय



सिंगरौली 10 मार्च । इस वक्त की बड़ी खबर आ रही है मध्य प्रदेश के सिंगरौली जिले से जहां बिहार के शातिर अपराधी चंदन सुनार को वेस्ट बंगाल पुलिस ने गिरफ्तार किया है यह शातिर अपराधी कई वर्षों से सिंगरौली में नाम बदलकर रह रहा था देश के अलग-अलग राज्यों से इसके ऊपर इनाम रखा घोषित हुआ था



सिंगरौली जिले के बैढन में जीपी पैलेस होटल के संचालक को वेस्ट बंगाल पुलिस ने गिरफ्तार किया है चंद्र मोहन नाम के इस होटल मालिक का असली नाम चंदन सुनार है यह शातिर अपराधी कई वर्षों से यहां बैढन में नाम बदलकर रह रहा था चंदन सुनार के ऊपर बिहार सहित देश के अलग-अलग राज्यों में 60 से ज्यादा अपहरण के मामले दर्ज हैं यह शातिर अपराधी अपहरण के लिए लड़कियों का सहारा लेता था



इसके जरिए अपहरण की वारदात को अंजाम अंजाम दिया करता था हैरानी की बात यह भी है कि स्थानीय प्रशासन को इस शातिर अपराधी की कानो कान खबर तक नहीं थी आज जब वेस्ट बंगाल की पुलिस सिंगरौली पहुंचे तो इस पूरी बात का खुलासा हुआ जिसने भी चंदन सुनार के बारे में सुना उसके होश उड़ गए कि अभी इतना बड़ा शातिर अपराधी उनके छुपा हुआ था इतना ही नहीं इस शातिर अपराधी का बड़े व्यापारी बड़े नेता और बड़े अधिकारियों के बीच अच्छी खासी पैठ थी चंदन सुनार के कारनामों से सोशल मीडिया भरा पड़ा है न जाने कितने अपहरण इस शातिर अपराधी ने किए हैं इसके अलावा कई लड़कियों को भी अपने जाल में इस शातिर अपराधी में फंसा रखा है

Popular posts
छत्तीसगढ़ में दुर्गा विसर्जन के जुलूस पर चढ़ाई कार एक की मौत, 26 से ज्यादा लोग घायल
Image
ऑटो और कार की भिड़ंत दो की मौत 4 घायल
Image
सिंगरौली जिले में कोयला मंत्री प्रह्लाद जोशी का एनसीएल दौरा
Image
सिंगरौली जिले के एनटीपीसी पावर प्लांट में एक अधेड़ उम्र के व्यक्ति की पानी के चैनल में गिरने से मौत
Image
मुहम्मदपुर फेटी कि घटना का अभी तक नहीं हुआ खुलासा,खुली आंख वाले प्रशासन ने वादी को अन्धा दिखाकर निर्दोष पत्रकार को भेजा गया जेल प्रशासन ने मौके की विवेचना करना जरूरी नहीं समझा
Image