जिला चिकित्सालय में खुलेगा पुलिस सहायता केन्द्र कलेक्टर,एसपी ने स्थल का किया निरीक्षण, कैंटिन के लिए निर्मित भवन प्रस्तावित, साफ-सफाई करने के निर्देश

जिला चिकित्सालय में खुलेगा पुलिस सहायता केन्द्र कलेक्टर,एसपी ने स्थल का किया निरीक्षण, कैंटिन के लिए निर्मित भवन प्रस्तावित, साफ-सफाई करने के निर्देश


जिला सिंगरौली मध्यप्रदेश से ब्यूरो चीफ विवेक पाण्डेय की खास रिपोर्ट




जिला सिंगरौली मध्यप्रदेश रिर्टन विश्वकाशी (RV NEWS LIVE) ब्यूरो न्यूज़- जिला चिकित्सालय सह ट्रामा सेंटर में कल शुक्रवार को हुए विवाद के बाद चिकित्सकों की पुलिस सहायता केन्द्र खोले जाने की मांग पर आज शनिवार को दोपहर कलेक्टर राजीव रंजन मीना व एसपी वीरेन्द्र कुमार सिंह जिला अस्पताल पहुंच भवन को देखकर पुलिस सहायता केन्द्र खोले जाने की बात पर मोहर लगाया। 

गौरतलब हो कि जिला अस्पताल में आये दिन मरीज के परिजनों एवं चिकित्सकों के बीच हो रही तूतू-मैंमैं के दृष्टिगत तथा करीब डेढ़ वर्षों से जिला अस्पताल सह ट्रामा सेंटर में पुलिस सहायता केन्द्र खोले जाने की मांग की जा रही थी। इसी सिलसिले में जिला चिकित्सालय सह ट्रामा सेंटर के चिकित्सकों ने कल शुक्रवार की शाम लामबंद होकर कलेक्टर से मुलाकात करते हुए जिला चिकित्सालय सह ट्रामा सेंटर परिसर में पुलिस सहायता केन्द्र खोले जाने पर बल दिया था। चिकित्सकों की मांग एवं आम जन सुरक्षा के दृष्टिगत कलेक्टर राजीव रंजन मीना ने मामले को गंभीरता से लेते हुए आज शनिवार की दोपहर जिला चिकित्सालय सह ट्रामा सेंटर पहुंचे।  इस दौरान कलेक्टर व एसपी ने अस्पताल परिसर में बने कैंटीन भवन का निरीक्षण कर भवन को साफ-सफाई कराये जाने के निर्देश देते हुए कहा कि कैंटीन भवन में पुलिस सहायता केन्द्र खोला जायेगा। साथ ही कलेक्टर ने जिला अस्पताल में इंटर काम सेवा को शीघ्र शुरू कराये जाने की चर्चा सीएमएचओ से की।  



अस्पताल में अक्सर होता रहता है तूतू-मैंमैं

जिला अस्पताल सह ट्रामा सेंटर में भर्ती मरीजों के परिजन व स्वास्थ्य सेवकों के बीच आये दिन हो रहे तूतू-मैंमैं की स्थिति निर्मित होती रहती है। आलम यह है कि मरीजों के परिजन कभी-कभी छोटी-छोटी बातों को लेकर स्वास्थ्य सेवकों से उलझ जाते हैं जहां हंगामा की स्थिति निर्मित हो जाती है। ऐसे हालात में परिसर में पुलिस सहायता केन्द्र न होने से कोतवाली से पुलिस को आना पड़ता है। तब तक में स्वास्थ्य सेवकों से वाद-विवाद करने वाले खिसक भी जाते हैं तो वहीं शरारती तत्व भी मौके का फायदा उठाकर स्वास्थ्य सेवकों को घेरने का हर संभव कोशिश भी करते आ रहे हैं। ऐसे हालात में स्वास्थ्य सेवकों द्वारा लगातार पुलिस सहायता केन्द्र खोले जाने की मांग करते आ रहे थे। 



तीन पुलिस सेवकों की होगी तैनाती

इस संबंध में पुलिस अधीक्षक वीरेन्द्र कुमार सिंह ने नवभारत को बताया कि पुलिस सहायता केन्द्र खोले जाने भवन चिन्हित कर लिया गया है। साफ-सफाई के बाद वहां जरूरतमंद व्यवस्थाएं किये जाने के उपरांत शीघ्र संचालित किया जायेगा। पुलिस सहायता केन्द्र में एएसआई सहित कुल 3 पुलिस सेवकों की तैनाती की जायेगी। जिसमें महिला पुलिस भी शामिल है। 


इनका कहना है 

जिला चिकित्सालय सह ट्रामा सेंटर में पुलिस सहायता केन्द्र खोले जाने के लिए भवन का निरीक्षण कर लिया गया है। साफ-सफाई के बाद इसी माह पुलिस सहायता केन्द्र का शुभारंभ हो जायेगा। 

राजीव रंजन मीना- कलेक्टर, सिंगरौली


Popular posts
स्कूल से कक्षा दसवीं का लापता छात्र स्कूल के पीछे तालाब में मिला लाश हत्या की आशंका क्षेत्र में फैली सनसनी
Image
प्रधानमंत्री जी ने नोयडा अन्तराष्ट्रीय विमानतल की रखी आधारशिला जो एशिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट होगा नोएडा इण्टरनेशनल एयरपोर्ट
Image
बैढ़न तहसील में पदस्थ बाबू वह अधिवक्ता द्वारा फर्जी अंगूठा लगाकर दूसरे के नाम वसीयत करा लेने का मामला आया प्रकाश में
Image
एपीएमडीसी सुलियरी कोल माइंस में विशाल धरना प्रदर्शन अनिश्चितकालीन लगातार जारी है विस्थापितों के द्वारा
Image
सिंगरौली जिले में 4 दिनों से जारी है सिंगरौली पुलिस की वार्षिक शस्त्र फायरिंग,अब तक 250 जवानों की करायी गयी फायरिंग
Image