रातो रात रेलवे स्टेशन के अंडर में आने वाला कट गया पेड़ एसआर कंपनी के सिक्योरिटी ने कटवाया पेड़ अब सभी झाड़ रहे हैं पल्ले रेलवे विभाग को पता नहीं ऐसा विभाग को पता और ना ही जंगल विभाग को पता कौन है जिम्मेदार? बड़ा सवाल

रातो रात रेलवे स्टेशन के अंडर में आने वाला कट गया पेड़ एसआर कंपनी के सिक्योरिटी ने कटवाया पेड़ अब सभी झाड़ रहे हैं पल्ले रेलवे विभाग को पता नहीं ऐसा विभाग को पता और ना ही जंगल विभाग को पता कौन है जिम्मेदार? बड़ा सवाल

जिला सिंगरौली से ब्यूरो चीफ विवेक पांडेय की  खास रिपोर्ट 



जिला सिंगरौली मध्य प्रदेश से RV NEWS LIVE: भारत सरकार रेलवे स्टेशन गजरा बहरा अंडर में आता है पेड़ जैसा कि वहां पर पता करने पर बताया गया हमारे संवाददाता ने जब पता किया तो वहां पर मालूमात हुआ कि यह हरा पेड़ जो कि सुख भी रहा है यह रेलवे विभाग के अंडर में आता है और इस पेड़ को एसआर कंपनी के सिक्योरिटी गार्ड खुद खड़े होकर रात्रि में पेड़ को कटवाया जा रहा है पेड़ कटने की बात का जानकारी जंगल विभाग के कर्मचारी से लिया गया तो उन्होंने बोला हमें इसके बारे में किसी प्रकार की कोई जानकारी नहीं है और ना ही पेड़ काटने का किसी भी प्रकार का कोई परमिशन लिया गया है 



यह बात अगर सच हुई तो इस पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी या तो जंगल विभाग के कर्मचारी ने बोलकर पल्ला झाड़ लिया अब बात करते हैं एसआर कंपनी के सिक्योरिटी गार्ड की जब यह पेड़ रेलवे विभाग के अंडर में उनके बाउंड्री के अंदर में आता है तो फिर यह सार कंपनी की सिक्योरिटी गार्ड उस पेड़ को कैसे कटवा सकते हैं जबकि रेलवे विभाग के कर्मचारी को भी इस बात की जानकारी नहीं जैसा कि हमारे संवाददाता ने उनसे जानकारी लिया वह भी वीडियो हम आपको दिखाएंगे उसमें रेलवे के स्टेशन मास्टर जो है वह साफ-साफ मना करते हैं कि हमें इसके बारे में किसी भी प्रकार की कोई जानकारी नहीं है नहीं हम लोगों ने पेड़ काटने का परमिशन जंगल विभाग से लिया था और ना ही हम लोगों ने पेड़ काटने का परमिशन एसआर कंपनी के सिक्योरिटी गार्ड को दिया था



 फिर यह पेड़ क्यों काटा गया और किसके परमिशन से काटा गया रात्रि के समय में पेड़ों को काटकर अवैध तरीके से बेचा जा रहा है जहां पर प्रशासन भी अनजान है ऐसे लोगों पर सख्त से सख्त और कड़ी से कड़ी कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए इस मामले में जितने भी लोग लिप्त हैं चाहे वह रेलवे प्रशासनिक डिपार्टमेंट हो चाहे एसआर कंपनी का सिक्योरिटी गार्ड या अन्य कर्मचारी मिले हो किसी को भी बख्शा नहीं जाना चाहिए बहुत ही बड़ा अपराध है बात की जानकारी जनता को भी लेने का अधिकार है जनता भी लोगों से पूछे कि किसके परमिशन से या पेड़ काटा गया या फिर रात्रि के समय में काटा जा रहा है जबकि वहां पर एसआर कंपनी के सिक्योरिटी गार्ड खुद खड़ा होकर उस पेड़ को कटवा रहा है वीडियो में आप साफ-साफ देख सकते हैं जो हम वीडियो वायरल कर रहे हैं अपने न्यूज़ पर उस वीडियो को हमारे संवाददाता ने खुद अपने कैमरे से बनाया हुआ है 


इस बात की पुष्टि करने हम रेलवे मास्टर से इसकी जानकारी लेना चाहे तो रेलवे मास्टर साफ साफ मुकर रहे हैं उन्होंने सीधा पल्ला झाड़ दिया कि हमें इसके बारे में किसी भी प्रकार की कोई जानकारी नहीं है क्योंकि हमारी ड्यूटी दिन में है हम रात्रि के ड्यूटी में नहीं थे अब रही बात स्टेशन मास्टर जो मास्टर रात्रि के समय में था उसे जानकारी क्यों नहीं हुआ कि उसके आने वाले अंडर में जो पेड़ है उसको एसआर कंपनी का सिक्योरिटी गार्ड खड़ा होकर कटवा रहा है अब आते हैं दिन के रेलवे स्टेशन मास्टर के पास जब हमारे संवाददाता विवेक कुमार पांडेय स्टेशन मास्टर से सवाल किया कि क्या आपको इसके बारे में जानकारी थी यह है कि पेड़ काटा जा रहा था या पेड़ कट गया उन्होंने साफ मना कर दिया कि हमें इसके बारे में किसी भी प्रकार की कोई जानकारी नहीं है 


जब स्टेशन मास्टर की अपने स्टेशन में आने वाले पूरे क्षेत्र एरिया पूरे क्षेत्र की जानकारी उनको होना चाहिए उनके ग्राउंड में पेड़ कट गया उन्हें पता ही नहीं है और वह ड्यूटी कर रहे हैं वह साफ-साफ हमारे सवालों से हमारे संवाददाता के सवालों से बचने किसी भी प्रश्न का जवाब नहीं दे पा रहे हैं आप वीडियो में भी आप देखेंगे जो बहुत दिलचस्प है कि कैमरे के सामने और माइक के सामने जैसे उनके मुंह से आवाज ही नहीं निकल रहा है ऐसे लगता है जैसे की चोरी पकड़ी गई हो वही 1 मीटर दूर पर कोयला वॉइस एस्सार कंपनी कोयला उठाती है एस्सार के सिक्योरिटी 24 घंटे तैनात रहते हैं चारो तरफ से बाउंड्री है भारत सरकार व रेलवे व जंगल विभाग की कोई परमिशन व आदेश नहीं है एस्सार के सिक्योरिटी ने लकड़ी कटवा कर बेच दिया ऐसा वहां के लोग कहते हैं जबकि हम इस बात की पुष्टि नहीं कर पा रहे हैं क्योंकि इन लोगों ने हर जानकारी देने से मना कर दिया और हमारे कैमरे पर साफ-साफ बचने की कोशिश किया गया लेकिन आसपास के लोगों का कहना है कि यहां पर आए दिन अवैध तरीके से काम होते हैं जिस पर किसी भी प्रशासनिक अधिकारी का नजर नहीं होता है निम्न स्तर के लोग निम्न जो जिसे सिक्योरिटी हो या फिर छोटे-बड़े जो अधिकारियों वह लोग कोयला बेचना पेड़ काटना इस तरीके का अवैध कार्य होता रहता है और आम जनता पर चोरी की घटनाओं को डाल दिया जाता है इस बात में कितनी सच्चाई है क्या हकीकत है इसका पता करना प्रशासन विभाग का काम है हमारा सिर्फ काम है प्रशासन विभाग तक मैसेज पहुंचाना सरकारी विभाग तक मैसेज पहुंचाना उच्च अधिकारियों तक हमारा काम है मैसेज पहुंचाना अब इस पर आगे की कार्यवाही क्या होती है इस पर क्या जांच होता है आगे निकलकर की क्या आती है क्या सच्चाई है इस पेड़ को किसने कटवाया लीगल तरीके से पेड़ कटा की अन लीगल तरीके से पेड़ कटा उच्च अधिकारियों की इस के बारे में जानकारी है कि नहीं है अगर है तो क्यों काटा गया किसके अधिकार के अंतर्गत काटा गया रेलवे विभाग का पेड़ एसआर कंपनी का सिक्योरिटी गार्ड क्यों काटा गया सब चीजों की जानकारी प्रशासन की जिम्मेदारी बनती है

Popular posts
नदी नहाने गए लड़के की डुबने से हुई मौत-
Image
कांग्रेस के पार्षद प्रत्याशियों के समर्थन में मप्र कांग्रेस कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष तथा पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सिंगरौली के रामलीला मैदान में विशाल जनसभा को सम्बोधित करते हुये मप्र की शिवराज सरकार को आड़े हाथों लिया
Image
हिंडाल्को महान बरगवां से अहमदाबाद के लिए रवाना हुआ ट्रक सहित 75 लाख का एल्यूमिनियम गायब करने वाले आरोपी को बरगवा पुलिस ने किया गिरफ्तार
Image
सीआरपीएफ नोएडा के डीआईजी का ट्रांसफर रास बिहारी सिंह बने नए डीआईजी
Image
भास्कर मिश्रा द्वारा विधायक पुत्र की गिरफ्तारी एवं पुलिस अधिकारियों को हटाने हेतु दिया गया ज्ञापन
Image