महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने हेतु अदाणी फाउंडेशन द्वारा प्रशिक्षण कार्यक्रम

महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने हेतु अदाणी फाउंडेशन द्वारा प्रशिक्षण कार्यक्रम

जिला सिंगरौली से ब्यूरो चीफ विवेक पाण्डेय की खास रिपोर्ट

 


जिला सिंगरौली मध्यप्रदेश रिर्टन विश्वकाशी राष्ट्रीय हिन्दी समाचार पत्र (RV NEWS LIVE) ब्यूरो न्यूज़// माडा तहसील अन्तर्गत करसुआलाल गांव में महान इनर्जेन लिमिटेड के सहयोग से अदाणी फाउंडेशन द्वारा मंगलवार को स्थानीय महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से धूपबत्ती, अगरबत्ती एवं संब्रानी कप बनाने का प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू किया गया। अदाणी फाउंडेशन के सामाजिक दायित्व विभाग के रीजनल हेड श्री जयंत मोहंती ने फीता काटकर तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम की शुरुआत की। इस मौके पर अदाणी फाउंडेशन के महान प्रोजेक्ट के कार्यक्रम प्रबंधक मनोज प्रभाकर और ग्राम कर्सुआलाल के सरपंच प्रतिनिधि अंजनी प्रजापति भी उपस्थित थे। कुल 35 स्थानीय महिलाओं ने इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में हिस्सा लिया। इस दौरान प्रशिक्षण ले रहे महिलाओं को निपुणता के साथ बनाए जा रहे उत्पाद की गुणवत्ता एवं एकजुट होकर व्यवसाय के रूप में इसे विकसित करने के लिए प्रेरित किया गया। 



अदाणी फाउंडेशन द्वारा स्थानीय जरूरतमंद महिलाओं का कौशल विकास कर उनको रोजगार से जोड़ने और उन्हें स्वाबलम्बी बनाने के उद्देश्य से यह प्रशिक्षण दिया जा रहा है। कार्यक्रम के दौरान सभा को संबोधित करते हुए अदाणी फाउंडेशन के अधिकारी जयंत मोहंती ने कहा  कि, "धूपबत्ती, अगरबत्ती  एवं संबंधित उत्पाद के उत्पादन से ज्यादा जरूरी है ग्रामीण महिलाओं के उसके उत्पाद को बाजार तक पहुंचाना एवं उचित मूल्य दिलाना। उन्होंने कहा जब हर महिला रोजगार से जुड़ेंगी तो उससे उनकी आय बढ़ेगी और वह अपने परिवार की जरूरतों को पूरा करने में मददगार साबित होंगी। जब तक उनकी प्रतिदिन की आमदनी सुनिश्चित नहीं होती तब तक किसी भी रोजगार प्रशिक्षण को सफल नहीं माना जायेगा।" अदाणी फाउंडेशन के द्वारा उत्पादों की उचित मूल्य पर बिक्री के लिए मार्केटिंग के संबंध में भी बताया जाएगा।

तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम के दौरान महिलाओं को धूपबत्ती, अगरबत्ती एवं संब्रानी कप बनाने का गुर सिखाया जायेगा। महिलाओं को जागरूक करने व आत्मनिर्भर बनाने के मकसद से चलाये जा रहे इस कार्यक्रम का संचालन अदाणी फाउंडेशन के ऋषभ पांडेय एवं ग्राम कार्यकर्ता श्यामदास जायसवाल, कमलेश कुमारी एवं सत्यकुमारी जायसवाल के देखरेख में कराया जा रहा है। प्रशिक्षण देने का कार्य कुशल प्रशिक्षक अमरनाथ गुप्ता के सहयोग से कराया जा रहा है। सभी ग्रामीण महिलाएं इस प्रशिक्षण कार्यक्रम से खुश हैं। स्थानीय ग्रामीणों ने अदानी फाउंडेशन के इस प्रकार के सामाजिक विकास कार्यक्रमों की काफी सराहना की है। उनका मानना है कि इस प्रकार के प्रशिक्षण से जहां स्थानीय महिलाओं को रोजगार मिलेगा और उनकी आमदनी से परिवार में खुशहाली आएगी वहीं स्थानीय युवा भी सामाजिक विकास के लिए आगे आने के लिए प्रेरित होंगे। 

अदाणी फाउंडेशन के बारे में

 1996 में स्थापित, अदाणी फाउंडेशन वर्तमान में 18 राज्यों में सक्रिय है, जिसमें देश भर के 2250 गाँव और कस्बे शामिल हैं। फाउंडेशन के पास प्रोफेशनल लोगों की टीम है, जो नवाचार, जन भागीदारी और सहयोग की भावना के साथ काम करती है। वार्षिक रूप से 3.2 मिलियन से अधिक लोगों के जीवन को प्रभावित करते हुए अदाणी फाउंडेशन चार प्रमुख क्षेत्रों- शिक्षा, सामुदायिक स्वास्थ्य, सतत आजीविका विकास और बुनियादी ढा़ंचे के विकास, पर ध्यान केंद्रित करने के साथ सामाजिक पूंजी बनाने की दिशा में काम करता है। अदाणी फाउंडेशन ग्रामीण और शहरी समुदायों के समावेशी विकास और टिकाऊ प्रगति के लिए कार्य करता है, और इस तरह, राष्ट्र-निर्माण में अपना योगदान देता है।

Popular posts
सरई बाजार से बोलेरो हुई चोरी पता नहीं चला कानो कान
Image
अडानी कंपनी की कोल परिवहन मे लगी गाड़ी से खनुआ निवासी 25 वर्षीय राजू सिंह की हुई दर्दनाक मौत,कोल परिवहन बना जिले के लोगों के लिए मौत का कुआं,असमय काल के गाल में समाते जा रहे हादशों में लोग
Image
अपराधिक तत्वों को बढ़ावा देने वाले चौकी प्रभारी के खिलाफ क्षेत्रीय जनता ने उठाई आवाज चौकी प्रभारी को तुरंत बर्खास्त करने की मांग
Image
सोनभद्र के अगोरी व ब्रह्मोरी क्षेत्र में बेखौफ चल रहा है वैध के नाम पर अवैध बालू खनन,सेंचुरी एरिया में नदी की धारा में व धारा को मोड़ कर जेसीबी व नाव से हो रहा अवैध खनन प्रशासन मौन क्यों
Image
नवांकुर संस्था ग्राम विकास प्रस्फुटन समिति पड़खुडी द्वारा किया गया नशा मुक्ति अभियान के तहत समन्वय बैठक
Image